IPL
IPL

Covid Medical Bulletin: सावधान…ज्यादा ‘सीटी स्कैन’ करवाने से हो सकता है ‘कैंसर’

AIIMS के निदेशक, डॉ.रणदीप गुलेरिया ने बताया कि, आज कल बहुत ज्यादा लोग ‘सीटी स्कैन’ करा रहे हैं, इससे बाद में ‘कैंसर’ होने की संभावना बढ़ सकती है

नई दिल्ली: एम्स (AIIMS) के निदेशक, डॉ.रणदीप गुलेरिया ने बताया कि, आज कल बहुत ज्यादा लोग ‘सीटी स्कैन’ ( करा रहे हैं। जब सीटी स्कैन की जरूरत नहीं है तो उसे कराकर आप खुद को नुकसान ज्यादा पहुंचा रहे हैं क्योंकि आप खुद को रेडिएशन के संपर्क में ला रहे हैं। इससे बाद में ‘कैंसर’ (Cancer) होने की संभावना बढ़ सकती है।

मरीज डॉक्टर के संपर्क में रहें

रणदीप गुलेरिया ने बोला, होम आइसोलेशन में रह रहे लोग अपने डॉक्टर से संपर्क करते रहें। सेचुरेशन 93 या उससे कम हो रही है, बेहोशी जैसे हालात हैं, छाती में दर्द हो रहा है तो एकदम डॉक्टर से संपर्क करें। उन्होंने कहा, वायरस का म्यूटेंट (Mutants) कोई भी हो हम कोविड उपयुक्त व्यवहार रखें। वायरस इंसान से ही इंसान में फैल रहा है और ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल भी वो ही हैं।

देश में 81.77% मामले ठीक

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया, देश में अब तक 81.77% मामले ठीक हुए हैं। देश में करीब 34 लाख सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है। अब तक संक्रमण से 2 लाख के करीब मृत्यु दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटे में देश में 3,417 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई है।

लव अग्रवाल ने कहा, देश में 12 राज्य ऐसे हैं जहां 1 लाख से भी ज्यादा सक्रिय मामले हैं। 7 राज्यों में 50,000 से 1 लाख के बीच सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है। 17 राज्य ऐसे हैं जहां 50,000 से भी कम सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है।

Oxygen का उत्पादन

गृह मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी के मुताबिक, देश में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन (Oxygen) उपलब्ध है। 1 अगस्त 2020 को ऑक्सीजन का उत्पादन देश में 5,700 मीट्रिक टन था, जो अब लगभग 9,000 मीट्रिक टन हो गया है। हम विदेशों से भी ऑक्सीजन का आयात कर रहे हैं।

यह भी पढ़े22 सालों में बना है यह रहस्यमयी किला, शिवाजी भी नहीं जीत पाए इसे, जानें इसकी दिलचस्प Story

Related Articles

Back to top button