माकपा ने डिजिटल मीडिया के लिए जारी अधिसूचना का किया विरोध

पार्टी पोलित ब्यूरो ने आज जारी विज्ञप्ति में कहा है कि सरकार ने सभी डिजिटल और ऑनलाइन मीडिया तथा माध्यमों को सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधीन लाने के लिए जो अधिसूचना जारी की है उससे उसकी नीयत का पता चलता है।

नई दिल्ली: मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने डिजिटल मीडिया को सरकार द्वारा नियंत्रित करने के लिए जारी अधिसूचना का विरोध किया है। माकपा ने कहा कि सरकार अब इस माध्यम को भी अपने ‘कब्जे’ में लेना चाहती है। सरकार मीडिया के अधिकारों का हनन कर रही है।

पार्टी पोलित ब्यूरो ने आज जारी विज्ञप्ति में कहा है कि सरकार ने सभी डिजिटल और ऑनलाइन मीडिया तथा माध्यमों को सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधीन लाने के लिए जो अधिसूचना जारी की है उससे उसकी नीयत का पता चलता है। साफ़ है की सरकार सभी मीडिया को नियंत्रित करना चाहती है, क्योंकि उसने पहले प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को एक हद तक नियंत्रित कर ही रखा है।

यह भी पढ़ें- सऊदी के सुल्तान की विश्व समुदाय से गुहार, ईरान को विध्वंसक हथियार प्राप्त न करने दिया जाए

पार्टी ने कहा है कि जब इस माध्यम की निगरानी के लिए इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी के बने आईटी कानून और अन्य कानूनी प्रावधान पहले से पर्याप्त थे तो फिर सरकार उसे नियंत्रित करने के लिए अलग अधिसूचना क्यों जारी कर रही है और सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधीन क्यों ला रही है।

यह भी पढ़ें- महागठबंधन बेहद कम अंतर से सत्ता में आने से चूक गई: कांग्रेस

Related Articles