उप्र में मनरेगा के माध्यम से 26 करोड़ से अधिक मानव दिवस का सृजन: योगी

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मनरेगा का वार्षिक लक्ष्य छह महीने में पूर्ण किए जाने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना काल खण्ड में ग्रामीण इलाकों में रोजगार के व्यापक अवसर सृजित करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने मनरेगा के कार्यों को प्राथमिकता पर संचालित कराया.

योगी ने सोमवार को यह कहा कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में मनरेगा के माध्यम से 26 करोड़ मानव दिवस सृजन का लक्ष्य निर्धारित किया गया था. इस लक्ष्य की छह महीने में ही पूर्ति करते हुए राज्य में अब तक मनरेगा के तहत 26.14 करोड़ मानव दिवस सृजित किए जा चुके हैं.

उन्होंने कहा कि इसके लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 के प्रारम्भ होने के साथ ही अप्रैल में मनरेगा के तहत प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में विभिन्न कार्य प्रारम्भ किए गए थे. राज्य में मनरेगा योजना का सुनियोजित संचालन किया जा रहा है. इस योजना के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में अन्य कार्यों के साथ-साथ नदियों के पुनरुद्धार, तालाबों के निर्माण, वृक्षारोपण आदि कार्य भी बड़े पैमाने पर कराये गये.

योगी ने कहा कि इन गतिविधियों के संचालन से ग्रामीण क्षेत्रों के गरीबों तथा प्रदेश वापस आए श्रमिकों और कामगारों के लिए रोजगार की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की गई.

यह भी पढ़े: योगी आदित्यनाथ ने पूर्वांचल में स्वच्छता अपनाया , किया गया जेई और एईएस को नियंत्रित

Related Articles