लखनऊ में हुआ खौफनाक घटना, अधिवक्ता की नृशंस हत्‍या; साथियों ने जताया रोष

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की राजधानी में बेखौफ अपराधी पुलिस को एक के बाद एक चुनौती दे रहें हैं। बुधवार को एक अधिवक्ता की नृशंस हत्या का मामला सामने आया है। मामला कृष्णानगर थाना क्षेत्र के दामोदरनगर इलाके का है। यहां शिशिर त्रिपाठी (32) की रंजिश में मौत के घाट उतार दिया गया। मृतक के बड़े भाई शरद त्रिपाठी ने बताया कि गांजे का व्‍यापार करने वाले मोनू तिवारी नामक युवक से छोटे भाई की रंजिश चल रही थी। जिसके चलते कई बार भाई को जान से मारने की धमकी भी मिली थी। तीन साल से मोनू तिवारी व्‍यापार कर रहा था। बीते दिन बातचीत करने के लिए भाई से मिलने आया था।

मृतक के पिता गोपी चंद्र के मुताबिक, मंगलवार शाम करीब पांच बजे दो युवक बेटे को लेने घर आए। उनके के साथ बेटा चला गया और वापस लौटा ही नहीं। पड़ोस में रहने वाले एक ऑटो चालक व पुलिस ने घटना की जानकारी दी।

बताया जा रहा है कि पुरानी रंजिश के चलते मंलगवार देर रात खौफनाक घटना को अंजाम दिया है। मृतक के पिता ने गांजा तस्करी से जुड़े लोगों पर हत्या का शक जताया है। वहीं, पुलिस हत्या की वजह पुरानी रंजिश मान रही है। पुलिस ने एक आरोपी विनायक ठाकुर को गिरफ्तार किया है। इस घटना से साथी वकीलों में रोष है। प्रदर्शन कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की है। 

Related Articles