क्राइम सिटी बनी लखनऊ, 24 घंटे में तीन चोरियां-दो शव बरामद

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हत्‍या और चोरी की घटनाएं बढ़ती दिखाई दे रही हैं। चोर-बदमाश बेखौफ आपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती दे रहे हैं। वहीं, बाजारखाला क्षेत्र में दो पक्षों में विवाद के बाद महिला और उसके बेटे पर लोहे के रॉड से हमला हुआ। इसी दिन संदिग्ध हालात में 50 वर्षीय डालीगंज निवासी दूधिये की मौत हुई। दुबग्गा में एक 35 साल के युवक का संदिग्ध परिस्थितयों में शव नाले में पड़ा मिला। हालांकि, पुलिस ने कैसरबाग में तेजाब छलकने से किशोरी समेत तीन के झुलसने के मामले में आरोपित कारीगर को गिरफ्तार कर लिया है। केकेसी इंटर कॉलेज के बाहर रविवार दोपहर बाद बदमाश कार का शीशा तोड़कर लविवि की असिस्टेंट प्रोफेसर अल्का मिश्रा के बैग में रखा पर्स और जरूरी दस्तावेज उड़ा ले गए। पीडि़ता की तहरीर पर हुसैनगंज पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

पीजीआइ थाना क्षेत्र स्थित एल्डिको उद्यान दो निवासी अरुण कुमार दुबे शनिवार सुबह किसी काम से जौनपुर गए थे। पत्नी शैल दुबे बेटी की शादी की तैयारी के चलते मूल निवासी गाजीपुर गई थीं। अरुण की बेटी श्वेता शनिवार शाम को पड़ोस में एक रिश्तेदार के घर काम से गई थी। इसी बीच चोरों ने मकान का ताला तोड़कर नकदी व जेवरात पार कर दिए। रविवार सुबह जब अरुण वापस लौटे तो घर का ताला खुला मिला। चोर करीब 19 लाख के जेवर व अन्य सामान चोरी कर ले गए हैं। पुलिस ने छानबीन की और वापस चली गई। लेकिन, मौके पर डॉग स्क्वॉड और फॉरेंसिक टीम को बुलाना मुनासिब नहीं समझा। इंस्पेक्टर पीजीआइ अंजनी कुमार पांडेय के मुताबिक चोरी की एफआइआर दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

पीजीआई थाना क्षेत्र स्थित वृंदावन सेक्टर 12 निवासी अधिवक्ता संकटा प्रसाद त्रिपाठी के घर से चोर लाखों रुपये के सोने-चांदी के जेवरात, नकदी समेत अन्य सामान चोरी कर ले गए। अलमारी से चोरों ने 70 किलो तांबे के और पीतल के बर्तन, दो लाख के जेवरात, 80 हजार रुपये व 40 हजार के कीमती कपड़े व कंबल चोरी कर लिए। तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना से आक्रोशित अधिवक्ता ने बताया कि चोरी की सूचना के बाद भी पुलिस लगातार लापरवाही बरतती रही और कोई बड़ा अधिकारी मौके पर जांच के लिए नहीं पहुंचा।

मामला हसनगंज कोतवाली का है। डालीगंज निवासी दूध विक्रेता अनिल सिंह (50) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। अनिल के भाई नीरज ने पुरानी रंजिश में एक युवक व उसके साथियों पर मारपीट के दौरान हत्या का आरोप लगाया। इंस्पेक्टर हसनगंज अमरनाथ वर्मा ने बताया कि इस संबंध में थाने पर कोई सूचना नहीं दी गई। तहरीर मिलने पर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। शनिवार देर रात तक जब अनिल घर नहीं लौटे तो परिवारीजनों ने उनकी तलाश शुरू की। देर रात उनका शव घर के पास गली में पड़ा मिला। इसके बाद सूचना पर डायल 112 वाहन से पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। उन्होंने अनिल को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया, जहां उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। मृतक के भाई नीरज ने पूरे मामले की जांच की मांग की है।

Related Articles