काबुल एयरपोर्ट पर उमड़ी भीड़, हवाई फायरिंग, मची अफरा-तफरी

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि अफगानिस्तान से अपने लोगों को निकालने के बीच काबुल में अमेरिकी दूतावास से अमेरिकी झंडा उतार लिया गया है।

काबुल: अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा होने से लगातार हालात बदल रहे हैं। राजधानी काबुल से भागने के लिए बेताब करोड़ों लोगों ने काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जाम लगा दिया। हालांकि तालिबान ने शांति बनाए रखने का वादा किया। अफगानिस्तान में लगातार नए-नए घटनाक्रम सामने आ रहे है।

दूतावास से अमेरिका का झंडा उतारा गया

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि अफगानिस्तान से अपने लोगों को निकालने के बीच काबुल में अमेरिकी दूतावास से अमेरिकी झंडा उतार लिया गया है। अधिकारी ने बताया कि दूतावास के लगभग सभी अधिकारियों को शहर के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पहुंचा दिया गया है, जहां पर हजारों अमेरिकी और अन्य लोग विमानों का इंतजार कर रहे।

अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि अमेरिकी झंडा दूतावास के अधिकारियों में से एक के पास है। अगले दो दिन में अमेरिका के 6,000 सुरक्षाकर्मी वहां मौजूद होंगे और वे हवाई यातायात नियंत्रण अपने कब्जे में ले लेंगे। बीते दो हफ्तों में विशेष वीजा धारक करीब 2,000 लोग काबुल से अमेरिका पहुंच चुके हैं।

काबुल एयरपोर्ट पर ताबड़तोड़ फायरिंग

काबुल में एयरपोर्ट पर जबरदस्त फायरिंग हुई है। इस फायरिंग के बाद एयरपोर्ट पर अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिला। तालिबान के कब्जे के बाद अमेरिका जैसा देश भी बेबस नजर आ रहा है। एयरपोर्ट पर हमले की खबर के बाद अमेरिका ने अपने नागरिकों से एयरपोर्ट जाने से मना किया जा रहा हैं। अमेरिका ने अपने नागरिकों से सुरक्षित जगह पर शरण लेने को कहा है।

यह भी पढ़ें: 20 साल की शांति के बाद तालिबान ने अफगानिस्तान की संभाली कमान

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles