सीआरपीएफ और बीएसएफ बलों को मिल सकती है एक और सौगात

नई दिल्ली: सीआरपीएफ और बीएसएफ के जवानों को राशन भत्ते और जोखिम भत्ते पर आयकर छूट मिल सकती है। गृह मंत्रालय के पत्र के जवाब में वित्त मंत्रालय ने यह आश्वासन दिया है। सरकार के इस कदम से सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआइएसएफ, आइटीबीपी और एसएसबी के लगभग नौ लाख कर्मचारियों को लाभ होने की संभावना है।

इस बात की जानकारी देते हुए गृह मंत्रालय के एक कर्मचारी ने कहा कि वित्त मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों को मिलने वाले राशन भत्ते और जोखिम भत्ते में आयकर छूट पर विचार का आश्वासन दिया है। वित्त मंत्रालय ने यह बात गृह मंत्रालय द्वारा भेजे गए उस पत्र के जवाब में कही है, जिसमें अर्धसैनिक बलों के जवानों को अन्य अर्धसैनिक बलों और वेतन आयोग की सिफारिशों के आधार पर राशन भत्ते में आयकर छूट देने का मुद्दा उठाया गया था।

नियमों के अनुसार असम राइफल्स और एनएसजी जवानों को जहां मुफ्त राशन दिया जाता है जबकि सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआइएसएफ, आइटीबीपी और एसएसबी जवानों को राशन भत्ता दिया जाता है। साथ ही गैर राजपत्रित रैंक जैसे कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, सहायक उप निरीक्षक, उप निरीक्षक और निरीक्षक तक के अर्धसैनिक बलों के जवानों को 3,000 रुपये प्रति माह राशन भत्ता दिया जाता है।

सातवें वेतन आयोग में अर्धसैनिक जवानों को मिलने वाले राशन भत्ते को आयकर से मुक्त रखने की सिफारिश की गई है। गृह मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों को मिलने वाले जोखिम भत्ते का मुद्दा भी उठाया है। पदों के अनुरूप जोखिम भत्ता 6,000 रुपये से लेकर 25,000 रुपये प्रति माह तक दिया जाता है।

Related Articles