पानी-पानी हो गया तेल, 30 डॉलर के नीचे आयी कीमतें

crude oil-4

मुंबई। कच्चा तेल पानी-पानी हो गया है। साल के पहले हफ्ते ही कच्चे तेल में करीब 10 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी है। सऊदी और ईरान में तनाव से एक बार मार्केट ने तेजी का अनुमान जरुर लगाया था, लेकिन अब वह भी उल्टा पड़ गया। चीन की चिंता ग्लोबल इकोनॉमी को सता रही है और तेल उत्पादक देशों को अपने मार्केट शेयर को बचाना ही बड़ा मुद्दा बना हुआ है। कच्चा तेल जमीन पर आ गया है। क्रूड में गिरावट बढ़ गई है। ब्रेंट का दाम 11.5 साल के निचले स्तर पर आ गया है। ब्रेंट क्रूड का भाव 29.7 डॉलर तक आ गया।

crude oil-2

कल की भारी गिरावट के बाद आज भी गिरावट जारी है और नायमैक्स क्रूड करीब 2.5 फीसदी की गिरावट के साथ 29 डॉलर के करीब आ गया है। दरअसल चीन की चिंता और अमेरिका में गैसोलीन का भंडार करीब 1.5 करोड़ बैरल बढ़ने से एनर्जी मार्केट ज्यादा दबाव में आ गया है। ऊपर से सऊदी और ईरान के बीच तनाव से ओपेक में मतभेद के कयास लगाए जा रहे हैं।

crude oil-5

दुनिया भर की एजेंसियां कच्चे तेल में आगे भी गिरावट देख रही हैं। गोल्डमैन सैक्स हो या इंटरनेशनल मोनेटरी फंड, सबका मानना है कि क्रूड का दाम 20 डॉलर तक भी गिर सकता है। अगर ऐसा हुआ तो पानी से भी सस्ता हो जाएगा कच्चा तेल। फिलहाल ये एक अनुमान है, लेकिन क्या वाकई ऐसा होगा और अगर ऐसा हुआ तो कमोडिटी बाजार की तस्वीर क्या होगी।

crude oil-3

आपको बता दें हो क्या रहा है कच्चे तेल के बाजार में, जो नायमैक्स क्रूड और ब्रेंट क्रूड का दाम 30 डॉलर के नीचे आ गया है। दरअसल ओपेक जो दुनिया में 40 फीसदी कच्चे तेल का उत्पादन करता है, करीब 3.2 करोड़ बैरल का रिकॉर्ड प्रोडक्शन कर रहा है। 40 साल बाद अमेरिका भी अब क्रूड का एक्सपोर्ट करने जा रहा है। पाबंदियां हटने से ईरान भी मार्केट में सप्लाई बढ़ाएगा, ऐसे में मार्केट शेयर को लेकर जंग छिड़ने की संभावना है। इस बीच रूस ने अपनी इकोनॉमी को देखते हुए कहा है कि 2022 तक कच्चे तेल का दाम 40 डॉलर के नीचे ही रहेगा।

crude oil-6

पिछले साल की शुरुआत में डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमत 65 डॉलर प्रति बैरल पर थी, जो अब गिरकर 30 डॉलर प्रति बैरल के नीचे आ गई है। वहीं पिछले साल की शुरुआत में ब्रेंट क्रूड का भाव 70 डॉलर प्रति बैरल पर था, जो अब गिरकर करीब 30 डॉलर प्रति बैरल आ गया है। बता दें कि रोजाना क्रूड की मांग करीब 9.3 करोड़ बैरल है और 9.6 करोड़ बैरल की सप्लाई हो रही है।

crude oil-7

वहीं आईएमएफ ने 2016 में क्रूड का भाव 30-20 डॉलर तक गिरने का अनुमान जताया है। वहीं मूडीज के मुताबिक 2016 में क्रूड 30 डॉलर तक गिर सकता है। गोल्डमैन सैक्स का अनुमान है कि 2016 में क्रूड की कीमत 20 डॉलर प्रति बैरल तक गिर सकती है। और बाजार के हालात भी तेल की ताजा कीमतों में यही आंकड़े दिखा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button