दिल्ली दंगों के आरोपी की हिरासत बढ़ाई गयी,कोर्ट ने कहा आम कैदियों की तरह हो बर्ताव 

दिल्ली हिंसा मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उमर पर कई धाराओं के साथ ही यूएपीए के तहत भी मामला दर्ज किया गया था, खालिद को 13 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था।

 

नयी दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय ( जेएनयु ) के पूर्व छात्र नेता और दिल्ली दंगों के आरोप में गिरफ्तार किए गए उमर खालिद की हिरासत शुक्रवार को 20 नवंबर तक बढ़ाने का आदेश दिया गया।

दिल्ली हिंसा मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उमर पर कई धाराओं के साथ ही यूएपीए के तहत भी मामला दर्ज किया गया था, खालिद को 13 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था।

ठंडे वस्त्र और किताबें उपलब्ध कराने का आदेश

न्यायाधीश रंधीर जायसवाल ने जेल अधीक्षक से खालिद से आम कैदियों की तरह ही बर्ताव करने के आदेश दिए हैं। अदालत ने अधीक्षक से साथ ही खालिद को किताबें और ठंडे वस्त्र उपलब्ध कराने के लिए कहा है।

दिल्ली पुलिस ने की हिरासत बढ़ाने की मांग

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस ने खालिद की हिरासत बढ़ाने की मांग की थी जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया।खालिद के वकील त्रिदीप पाइस ने कहा कि उनके मुव्वकिल के साथ जानवारों की तरह बर्ताव किया जा रहा है। जेल अधीक्षक ने हालांकि उनके वकील के आरोपों को खारिज किया और कहा कि खालिद को अन्य कैदियों की तरह ही उनके सेल से बाहर आने दिया जाता है।

यह भी पढ़ें:संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन के बाद नेतन्याहू सुडान के साथ रिश्ते करेंगे सामान्य

यह भी पढ़ें:हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को पार्कों और खेल के मैदानों से अतिक्रमण हटाने का दिया निर्देश

Related Articles

Back to top button