Cyclone Tauktae : महाराष्‍ट्र में 6 लोगों की मौत, मुंबई में भारी बारिश, सुबह गुजरात पहुचने की उम्मीद

मुंबई: Cyclone Tauktae (चक्रवाती तूफान ताउते) का मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई क्षेत्रों में गहरा असर देखने को मिला है. महाराष्ट्र के कोंकण इलाके में इससे 6 लोगों की मौत हो गई है. जबकि 3 नाविक लापता बताए जा रहे हैं. वहीं सोमवार को मुंबई में भी समुद्र में ऊंची लहरें उठने के साथ भारी बारिश हुई. बांद्रा-वर्ली सी लिंक और मुम्बई हवाई अड्डा बंद कर दिया गया है. कई जगहों पर भरी जल भराव भी देखने मिला. रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग के समुद्री किनारों पर तूफान ने नुकसान पहुंचाया है. रायगढ़ जिले में 3, सिंधुदुर्ग में 1 और 2 लोगों की मौत नवी मुंबई व उल्हासनगर में हुई. इनकी मौत चक्रवाती तूफान ताउते के कारण गिरे पेड़ की चपेट में आने से हुई.

भारतीय तटरक्षक जहाज समर्थ ने नाव से 15 चालक दल को बचाया

NDRF ने समुद्र के करीब के राज्यों में 79 टीमें उपलब्ध कराई हैं और 22 अतिरिक्त टीमों को भी तैयार रखा गया है. जहाजों और विमानों के साथ थल सेना, नौसेना और तटरक्षक बल के बचाव और राहत दल भी तैनात किए गए हैं. भारतीय तटरक्षक जहाज समर्थ ने आज गोवा तट पर मिलाद नामक एक मछली पकड़ने वाली नाव से 15 चालक दल को बचाया. सभी चालक दल सुरक्षित हैं और नाव को किनारे पर लाया जा रहा है.

वहीँ बता दें कि भारत सरकार के कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने रविवार को अरब सागर में Cyclone Tauktae से प्रभावित इलाकों से लोगों को निकालने के लिए सभी उपाय करने की जरूरत पर जोर दिया ताकि किसी भी तरह की जान-माल की क्षति से बचाया जा सके. राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (NCMC) के दौरान चक्रवात से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा करते हुए, गौबा ने बिजली, दूरसंचार और अन्य महत्वपूर्ण सेवाओं को बहाल करने के लिए सभी तैयारी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए.

18 मई की सुबह तूफान के गुजरात तट पर पहुंचने की उम्मीद

India Meteorological Department (IMD) के Director General ने NCMC को चक्रवात की नई स्थिति के बारे में जानकारी दी. जिसके मुताबिक 18 मई की सुबह तूफान के गुजरात तट पर पहुंचने की उम्मीद है, जिसमें हवा की गति 150 से 160 किमी प्रति घंटे रह सकती है. इसके अलावा राज्य के तटीय जिलों में तेज हवाएं, भारी बारिश और तूफान आ सकता है. संबंधित राज्यों के मुख्य सचिवों ने चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए किए गए तैयारी उपायों से समिति को अवगत कराया. खाद्यान्न, पेयजल और अन्य आवश्यक आपूर्ति के पर्याप्त स्टॉक की व्यवस्था की गई है और बिजली, दूरसंचार जैसी आवश्यक सेवाओं को बनाए रखने के लिए तैयारी की गई है.

ये भी पढ़ें : Israel-Palestine Conflict : इजराइल-हमास के बीच संघर्ष का शिकार हो रहे दोनों देशों के लोग

Related Articles

Back to top button