Cyclone Yaas: PM मोदी ने West Bengal-Odisha में यास से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में चक्रवात तूफान यास के कारण हुए नुकसान की समीक्षा बैठक की है

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में चक्रवात तूफान यास (Cyclone Yaas) के कारण हुए नुकसान की समीक्षा बैठक की है। इसके साथ ही उन्होंने चक्रवात यास से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण भी किया है।

ओडिशा (Odisha) के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने समीक्षा बैठक में कहा कि, देश कोरोना महामारी के पीक पर है इसलिए हमने केंद्र सरकार पर बोझ डालने के लिए कोई तत्काल वित्तीय सहायता नहीं मांगी है और हम अपने संसाधनों से इसका प्रबंध करना चाहते हैं।

पश्चिम बंगाल में तूफान से नुकसान

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पूर्वी मिदनापुर के कौलियाहटा गांव में और रिहायशी इलाकों में चक्रवात यास की वजह से घरों में पानी भर गया है। इसके साथ ही बिजली के खंभों और तारों को भी नुकसान पहुंचा है। एक महिला ने बताया, हमने 2-3 महीने पहले घर बनाया था। अचानक तूफान आया और 2 सेकंड में सबकुछ उड़ गया।

झारखंड के रांची की कांची नदी पर बना पुल कल भारी बारिश की वजह से टूट गया है।

यूपी-बिहार में यास का कहर

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, चक्रवाती तूफान ‘YAAS’ पूर्वी उत्तर प्रदेश और उससे सटे बिहार के पूर्वी हिस्सों में स्थित है और संबंधित चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 7.6 किमी तक फैला हुआ है। अगले 12 घंटों के दौरान सिस्टम के उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और कम दबाव के क्षेत्र में कमजोर होने की संभावना है।

इसके प्रभाव के तहत, आज 28 मई, 2021 को पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना है।

मौसम विभाग ने बताया कि 30 मई से पूर्वोत्तर राज्यों और इससे सटे पूर्वी भारत में दक्षिणी हवाओं के मजबूत होने के कारण, व्यापक रूप से व्यापक रूप से व्यापक वर्षा गतिविधि के साथ अलग-अलग भारी गिरावट की संभावना है।

यह भी पढ़ेDRDO की 2DG एंटी-कोविड-19 दवा की कीमत तय, सरकारी अस्पतालों को कम दाम पर मिलेगी

Related Articles

Back to top button