Cyclone Yaas: बिहार में मूसलाधार बारिश, अस्पताल में जलभराव, पीपा पुल क्षतिग्रस्त

चक्रवात तूफान यास की वजह से भारी बारिश होने के कारण बिहार के दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जलभराव हो गया है, अगले 24 घंटे में भारी बारिश होने की संभावना

पटना: चक्रवात तूफान यास (Cyclone Yaas) की वजह से भारी बारिश होने के कारण बिहार (Bihar) के दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जलभराव हो गया है। जिसके कारण चिकित्सकर्मी और मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बिहार में लगातार बारिश होने के कारण पीपा पुल और सड़के क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जिसके चलते वाहनों के अवागमन को रोक दिया गया है। भोजपुर जिले के आरा, जगदीशपुर, गड़हनी, पीरो और शाहपुर में अधिक संख्या में मिट्टी के बने कच्चे घर ध्वस्त हो गए है।

तेज बारिश के कारण NMCH कोविड अस्पताल के मेडिसिन विभाग में पानी भर गया है। जहां पर कोरोना वार्ड में जलभराव की संभावना को देखते हुए भर्ती कोरोना मरीजों को देर मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल में शिफ्ट कर दिया गया है।

इन जिलों में अत्यधिक बारिश

बिहार के पूर्वी हिस्सो के कुछ जगहों पर अत्यधिक भारी बारिश हुई है। बिहाक राज्य में सबसे अधिक बारिश कटिहार के मनिहारी में दर्ज की गई है। इसके साथ ही कदवा, बरारी, पूर्णिया, परसा, कटिहार उत्तर, अमनौर, बनमनखी, अरवल, शेखपुरा में भारी बारिश रिकॉर्ड की गयी है। चक्रवात तूफान यास (Cyclone Yaas) कम दबाव के क्षेत्र के रूप में बदलकर राज्य के उत्तर पश्चिम दिशा में आगे बढ़ गया है और अगले 24 घंटों में कमजोर होकर इसी ओर स्थिर रहने के आसार हैं।

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान बिहार में भारी से बहुत भारी बारिश होगी। दक्षिणी हवाओं के मजबूत होने के कारण, 30 मई, 2021 से पूर्वोत्तर राज्यों और इससे सटे पूर्वी भारत में छिटपुट भारी वर्षा के साथ व्यापक रूप से व्यापक वर्षा गतिविधि होने की संभावना है।

राज्य में लगातार मूसलाधार बारिश होने की वजह से जनजीवन पर भारी असर पड़ रहा है। चक्रवाती हवा की रफ्तार से जगह-जगह पर पेड़ उखड़ गए है। तूफान की तीव्रता से लोग डरे हुए है।

यह भी पढ़ेChaudhary Charan Singh की 34वीं पुण्यतिथि पर जानें उनके जीवन की रोचक बातें, जेल में रहकर लिखे Book

Related Articles

Back to top button