Cyclone Yaas Updates: यूपी-बिहार के पूर्वी हिस्सों में है यास, भारी बारिश होने की संभावना

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, चक्रवाती तूफान यास पूर्वी उत्तर प्रदेश और उससे सटे बिहार के पूर्वी हिस्सों में स्थित है और संबंधित चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 7.6 किमी तक फैला हुआ है

नई दिल्ली: मौसम विभाग (IMD) के ताजा जानकारी के अनुसार, चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) पूर्वी उत्तर प्रदेश और उससे सटे बिहार के पूर्वी हिस्सों में स्थित है और संबंधित चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 7.6 किमी तक फैला हुआ है। अगले 12 घंटों के दौरान सिस्टम के उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और कम दबाव के क्षेत्र में कमजोर होने की संभावना है।

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) के प्रभाव के चलते, आज यानी कि 28 मई, 2021 को पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना है।

मौसम विभाग ने बताया कि 30 मई से पूर्वोत्तर राज्यों और इससे सटे पूर्वी भारत में दक्षिणी हवाओं के मजबूत होने के कारण, व्यापक रूप से व्यापक रूप से व्यापक वर्षा गतिविधि के साथ अलग-अलग भारी गिरावट की संभावना है।

यूपी में मौसम

चक्रवात यास (Cyclone Yass) की वजह से पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और पूर्वी यूपी के कई जिलों में 24 घंटे में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। उत्तर प्रदेश में अगले 48 घंटों तक हल्की बारिश होगी। कुछ जिलों में भारी बारिश का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग IMD के वैज्ञानिक राजेंद्र कुमार जेनामनी ने पहले ही बताया था कि चक्रवात तूफान यास (Cyclone Yaas) की वजह से बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में बारिश होगी।

तूफान से नुकसान

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पूर्वी मिदनापुर के कौलियाहटा गांव में और रिहायशी इलाकों में चक्रवात यास की वजह से घरों में पानी भर गया है। इसके साथ ही बिजली के खंभों और तारों को भी नुकसान पहुंचा है। एक महिला ने बताया, हमने 2-3 महीने पहले घर बनाया था। अचानक तूफान आया और 2 सेकंड में सबकुछ उड़ गया। झारखंड के रांची की कांची नदी पर बना पुल कल भारी बारिश की वजह से टूट गया है।

यह भी पढ़ेदिल्ली में पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 1,141 नए मामले, कंस्ट्रक्शन गतिविधियां इस दिन से शुरू

Related Articles

Back to top button