पुलिस कस्टडी से फरार मुथूट फाइनेंस में डकैती का आरोपित ‘करिया’ गिरफ्तार

लखनऊ: पुलिस कस्टडी से 10 माह पूर्व फरार हुए आलमबाग मुथूट फाइनेंस में डकैती डालने वाले मुख्य आरोपित करिया को तीन साथियों समेत अमीनाबाद पुलिस ने जनाना पार्क के पास से रविवार देर रात दबोच लिया। करिया की गिरफ्तारी के लिए 20 हजार का इनाम घोषित किया गया था। पुलिस ने करिया और उसके साथियों के पास से तीन तमंचे और सात कारतूसबरामद किए हैं। पुलिस का दावा है कि यह सभी एक व्यापारी के घर बड़ी वारदात देने जा रहे थे।एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी के मुताबिक, अमीनाबाद इंस्पेक्टर सुनील कुमार दूबे, मथुरा राय ने मुखबिर की सूचना पर जनाना पार्क के पास छापेमारी की। पुलिस टीम को देखकर वहां खड़े तीन संदिग्ध भागने लगे। पुलिस टीम ने उन्हें दौड़ाकर दबोच लिया। पकड़े गए बदमाशों में कृष्णानगर निवासी रवींद्र कुमार मौर्या उर्फ करिया, राजू पहाड़ी निवासी सातवीं गली निशातगंज, मड़ियांव का रवि रावत व मॉडल हाउस निवासी राजकुमार गुप्ता है।

उनके पास से तीन तमंचे, चार कारतूस व चाकू बरामद किया गया है। असलहों से लैस करिया और उसके साथियों ने फरवरी 2013 में आलमबाग स्थित मुथूट फाइनेंस में डकैती डालकर 10 किलो सोना लूटा था। करिया गिरोह का सरगना था और उसने साथी समीर, मो. आरिफ, अजय वर्मा, टोनी व शुभम समेत अन्य के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था।

मड़ियांव पुलिस ने चेन लूट के आरोप में बाजारखाला के हिस्ट्रीशीटर को गिरफ्तार किया है। आरोपित के पास से लूट की पांच चेन बरामद की गई हैं। सीओ अलीगंज स्वतंत्र सिंह के मुताबिक आरोपित सीरियल चेन स्नेचर है, जिसके खिलाफ लूट के 30 एफआइआर दर्ज हैं। सीओ ने बताया कि सोमवार को मड़ियांव पुलिस जांच कर रही थी। इस बीच बाइक सवार एक युवक आता दिखा, जिसे रोकने की कोशिश की गई। लेकिन पुलिस को देखते ही युवक ने भागने की कोशिश की, जिसे दौड़कर दबोच लिया गया।

पूछताछ में आरोपित ने अपना नाम भवानीगंज बाजारखाला निवासी देवेंद्र सिंह बताया। पुलिस के मुताबिक आरोपित ने कमर में अवैध असलहा लगा रखा था। तलाशी में उसके पास से पांच चेन, 10 हजार एक सौ रुपये व दो कारतूस मिले। पूछताछ में पता चला कि आरोपित बाजारखाला कोतवाली का 2015 से हिस्ट्रीशीटर है। वह पहले भी नाका, पारा और बाजारखाला थाने से जेल जा चुका है। आरोपित ने बताया कि वह ऐशबाग प्लाई फैक्ट्री में काम करता था। आरोपित देवेंद्र ने प्रियदर्शनी कॉलोनी, राम राम बैंक, आइआइएम रोड समेत अन्य इलाकों में चेन स्नेचिंग की बात स्वीकार की है।

30 मई को पेशी के दौरान भागा था

सीओ कैसरबाग अमित कुमार राय ने बताया कि रवि को डकैती के मामले में पुलिस कस्टडी में 30 मई 2013 को सिपाही राकेश कुमार पेशी पर लेकर आया था। पेशी के बाद वापस जेल जाते समय करिया सिपाही को धक्का देकर भाग निकला था। इसके बाद करिया और सिपाही के खिलाफ वजीरगंज कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज की गई थी।

Related Articles