उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में दलित युवती के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ; दो गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश,बलरामपुर: अभी देश में हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर लोगों का गुस्सा खत्म नहीं हो पाया और बीते 24 घंटे में एक गैंगरेप का मामला फिर से सामने आया.जिससे हर किसी की रुह कांप जाए. हाथरस गैंगरेप में एक मासूम नाबालिक के साथ जिस तरह की दरिंदगी की गई, उसके बाद देश में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है और आरोपियों की सज़ा नहीं बल्कि फांसी देनी की मांग की जा रही है.

बलरामपुर

हाथरस की घटना के बाद एक बार फिर से यूपी के बलरामपुर से चौंकाने वाला मामला सामने आया है. एक बार फिर दलित छात्रा के साथ गैंगरेप हुआ. गैंगरेप के बाद युवती की मौत हो गई और तुरंत ही उसका दाह संस्कार भी कर दिया गया. अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. बताया जा रहा है जब 22 साल की युवती घर नहीं लौटी तो घरवालों को चिंता होने लगी और घरवालों ने छानबीन शुरू कर दी कुछ ही समय बाद वह रिक्शे पर बहुत ही खराब हालत में वो घर वापस आई. लेकिन जब तक घरवाले उसे अस्पताल लेकर पहुंचते उससे पहले ही उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया.

बता दे कि मामला गैसड़ी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव है। इसी गांव की रहने वाली एक छात्रा जब मंगलवार सुबह 10 बजे परिजनों से यह बता कर निकली थी कि वह एक निजी महाविद्यालय में दाखिला लेने के लिए जा रही है। छात्रा की मां ने  बताया कि उसकी बेटी देर शाम तक घर नहीं लौटी तो घरवालों ने बेटी की तलाश शुरू कर दी। इसी बीच छात्रा बदहवास एवं गंभीर हालत में घर पहुंची। छात्रा ने अपनी आपबीती परिजनों को सुनाने लगी और कहा कि उसे एक युवक कॉलेज ले गया था। प्रवेश के बाद वही युवक उसे लेकर गैसड़ी लेकर पहुंचा और उसे अपने घर व दुकान ले गया। जहां उसके साथ युवक तथा उसके चाचा ने बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया। जिससे छात्रा की हालत बहित ही खराब हो गई।

इस पर आरोपियों ने घबराकर उसे घर छोड़ने से पहले एक निजी चिकित्सक को बुलाया और छात्रा का इलाज करने की बात कही थी। उन्होंने एक डॉक्टर को घर पर भी बुलाया। लेकिन हालत गंभीर तथा मामला संदिग्ध होने के कारण चिकित्सक ने छात्रा का इलाज करने से मना कर दिया तथा उन्हें सलाह देते हुए कहा कि इसे जिला अस्पताल ले जाये। बुधवार सुबह गैसड़ी की पुलिस मामले को संदिग्ध मानते हुए मृतका का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया था। परिजनों की आशंका पर पुलिस वालों दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी। इस संबंध में देर शाम पुलिस के आला अफसर कुछ भी बोलने से कतरा रहे थे।

यह भी पढ़े:राहुल-प्रियंका कुछ देर में हाथरस के लिये होंगे रवाना, उससे पहले बार्डर सील, धारा 144 लागू

Related Articles