दलित बच्ची से श्मशान घाट में बलात्कार, सबूत मिटाने के लिए किया खौफनाक काम, कांप जाएगी रूह

नई दिल्ली: दिल्ली कैंट (Delhi) थाना इलाके के पुरानी नांगल में 9 साल की एक बच्ची की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। आरोप है कि बच्ची का श्मशान घाट (crematorium) के अंदर रेप कर उसे जिंदा जला दिया गया। श्मशान घाट के पंडित और तीन दूसरे लोगों पर इस मामले का आरोप है। पुलिस ने इस मामले में लापरवाही से मौत, सबूत मिटाने और परिजनों को बिना बताए शव का श्मशान घाट (crematorium) में अंतिम संस्कार करने जैसे मामलों में मुकदमा दर्ज किया था।

कई धाराओं में दर्ज मुकदमा

साउथ-वेस्ट दिल्ली के डीसीपी इंगित प्रताप सिंह ने बताया कि सोमवार शाम को मामले में एससी-एसटी कमिशन के साथ हुई मीटिंग के बाद पुलिस ने गैंगरेप, हत्या, पॉक्सो, एससी-एसटी एक्ट और जान से मारने की धमकी देने समेत कई धाराएं भी जोड़ दी हैं। इस संदर्भ में पुलिस द्वारा एक पुजारी को हिरासत में ले लिया गया है। बताया जाता है कि दिल्ली कैंट पुलिस थाने में नाबालिग लड़की के रेप के बाद हत्या और उसके अंतिम संस्कार के संबंध में पीसीआर को सूचना मिली थी।

श्मशान घाट पर एकजुट हुए ग्रामीण

इस मामले में पुराने नंगल गांव के लगभग 200 गांव वाले श्मशान घाट पर एकजुट हुए थे। लड़की की उम्र 9 साल की थी और वह अपनी मां को बताकर श्मशान घाट के वाटर कूलर से ठंडा पानी लेने के लिए गई थी।

लोगों का कहना है कि पुजारी ने शाम 6 बजे लड़की की मां को बुलाकर उसका शव दिखाया और कहा कि वाटर कूलर से करंट लगने की वजह से उसकी मौत हो गई है। लेकिन लड़की की बाई कलाई पर जलने के निशान थे। इसके साथ ही उसके होंठ भी नीले पड़ गए थे।

भीम आर्मी के मुखिया हुए नाराज

लड़की के माता-पिता को पोस्टमार्टम में शव चराए जाने का हवाला देकर जबरदस्ती पुजारी ने उसका अंतिम संस्कार करवा दिया। इस मामले में भीम आर्मी के मुखिया और युवा नेता चंद्रशेखर आजाद ने भाजपा पर निशाना साधा है।

चंद्रशेखर आजाद ने लिया संज्ञान

उन्होंने लिखा है कि नई दिल्ली के नांगल गांव श्मशान घाट में पानी लेने गई नाबालिग दलित बच्ची के साथ दुष्कर्म करके उसकी हत्या कर दी है। बलात्कारियों को बचाने के लिए पुजारी ने लाश को जबरन जला दिया। कभी हाथरस में हमारी बहनें जबरन जलाई जाती है तो कभी दिल्ली में। दरिंदों पर कड़ी कार्यवाही हो।

Related Articles