सदन की गरिमा को हुआ नुकसान, राज्यसभा में मॉनसून सत्र के अंतिम दिन मचा बवाल

लखनऊ: राज्यसभा में गुरुवार को मॉनसून सत्र के आखिरी दिन हंगामे से भरा रहा। एक बार फिर से विपक्ष ने उच्च सदन की गरिमा को नुकसान पहुंचाया। इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमे विपक्ष हंगामा करते दिखाई दें रहे है। विपक्ष ने आरोप लगाया कि मार्शलों ने महिला सांसदों से गलत व्यवहार किया। इसपर पीयूष गोयल ने कहा कि विपक्ष ने असंसदीय व्यवहार किया और सेक्रटरी जनरल व स्टाफ के साथ धक्का-मुक्की की।

राज्यसभा में गुरुवार को हुए हंगामे के कुछ वीडियो वायरल हुई हैं। इनमें से एक वीडियो में साफ देख सकते है कि कैसे दोनों पक्षों के बीच जारी खींचतान में महिला मार्शलों को भी नहीं बख्शा गया। ओबीसी बिल पास होने के बाद बीमा बिल पर चर्चा शुरू हुई और विपक्ष ने हंगामा काटना शुरू कर दिया। विपक्ष ने कहा कि आपने सिर्फ ओबीसी बिल के लिए कहा था, इस दौरान चेयर की तरफ कागज फेंके गए। जिसके बाद मार्शल को बुलाया गया।

कई सांसदों को चोटें आई

विपक्ष का कहना है कि इस बीच कई सांसदों को चोटें आई हैं। उधर, सरकार की तरफ से पीयूष गोयल ने कहा कि विपक्ष का असंसदीय व्यवहार रहा है, सेक्रेटरी जनरल और स्टाफ के साथ धक्का-मुक्की की गई। इस मामले की जांच की जाएगी और जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

शरद पवार का आरोप

एनसीपी नेता शरद पवार ने कहा कि मैंने 55 साल की संसदीय राजनीति में आज तक ऐसा कभी नहीं देखा। 40 से 50 मार्शल बुलाकर सांसदों के साथ दुर्व्यवहार किया गया। जबकि संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा, विपक्ष के नेताओं ने मार्शल के साथ दुर्व्यवहार किया।

 

Related Articles