दो देशों की धरोहर को संजोय है दमन एंड दीव, यहां का खाना भी है लजीज

0

दमन। चंडीगढ़, अंडमान एंड निकोबार और पुडुचेरी की तरह दमन एंड दीव भी भारत का एक केंद्र शासित राज्य है। इसकी खूबसूरती भी किसी यूनियन टेरिटरी से कम नहीं है। इस द्वीप की खास बात ये हैं साल 1947 में भारत की आजादी के बाद भी दमन एंड दीव कुछ सालों तक पुर्तगालियों के कब्जेह में था। आजादी के करीब 20 साल तक यह द्वीप पुर्तगालियों के कब्जे में रहा।

also read: मसूरी के अलावा उत्तराखंड में इन जगहों पर भी आप उठा सकते हैं प्रकृति का लुफ्त

जब साल 1960 में गोवा पुर्तगालियों के कब्जेय से मुक्त हुआ है, उसी दौरान दमन को भी भारत में शामिल किया गया।वैसे दमन का इतिहास और खूबसूरती दोनों ही बड़े रोचक हैं। यहां की नेचुरल ब्यूटी भी देश-विदेश के पर्यटकों को अपनी तरफ काफी आकर्षित करती है। ऐसे में अगर आप भी प्रकृति को करीब से महसूस करना चाहते हैं तो एक बार दमन एंड दीव जरुर जाएं। यहां की हसीं वादियों में आप अपनी सारी परेशानियां भूल जाएंगे और अपनी ट्रिप अच्छे से एन्जॉय कर पाएंगे।

अगली स्लाइड में पढ़ें : ये हैं घूमने की जगहें

loading...
1
2
शेयर करें