खतरा: देश में यहाँ मिला Yellow फंगस का पहला मामला, डॉक्टरों ने बताया Black से घातक

गाज़ियाबाद: कोरोना महामारी के बीच ब्लैक फंगस पहले से ही डोक्टरों और जानकारों के लिए चिंता का विषय बना हुआ था. अब इसके बाद Yellow फंगस ने भी देश में दस्तक दे दी है. Yellow फंगस का पहला मामला उत्तर प्रदेश के गाजिअबाद में Diagnose हुआ है. यहाँ 45 वर्षीय एक मरीज़ जो कुछ दिन पहले covid से स्वस्थ हुआ था उसमे Yellow फंगस की पुष्टि हुई है. मरीज को सुस्ती, भूख कम लगना, वजन कम होना, उसे कम धुंधला दिखाना जेसे लक्षण थे. जिसके बाद वो गाज़ियाबाद में ENT सर्जन को दिखाने पहुंचा था. डॉक्टर ने TEST के दौरान पाया कि उसे Yellow फंगस है. डॉक्टरों के मुताबिक, Yellow फंगल, ब्लैक और वाइट फंगस से कहीं ज्यादा खतरनाक है. डॉक्टर ने बताया कि यह पहली बार है जब यह किसी इंसान में मिला है.

ये भी पढ़ें : Black Fungus News: देश के 18 राज्यों में ब्लैक फंगस का खतरनाक अटैक, Diabetes के मरीज ये सावधानी बरतें

मरीज़ का प्राइवेट अस्पताल में इलाज़ चल रहा है. गौरतलब है कि Yellow फंगस जो डोक्टरों के मुताबिक Black और white फंगस से भी घातक बीमारी है. ऐसे में अगर किसी भी लक्षण को आप अपने शरीर में पाते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेवें. Yellow फंगस का केवल Amphotericin b एक इंजेक्शन है. इसी से इसका इलाज सम्भव है. दरअसल यह एक Antifungus injection है.

मिली जानकारी के मुताबिक Yellow फंगस से डिटेक्ट हुआ मरीज़ संजय नगर इलाके का रहने वाला है. पहले उसका CT स्कैन किया गया पर फंगस का पता नहीं लगा. फिर जब रोगी का Nasal endoscopy की गई तब पता चला कि उसे ब्लैक, वाइट और यलो तीनो ही फंगस थे. डॉक्टर ने कहा कि अगर घर के अंदर ज्यादा नमी है तो मरीज के लिए यह घातक हो सकता है, इसलिए इस पर ध्यान दें. ज्यादा नमी बैक्टीरिया और फंगस बढ़ाती है. डॉक्टर ने बताया कि घर की और आसपास की सफाई बहुत जरूरी है. बासी खाना न खाएं.

बीमारी का कारण

जानकारी के मुताबिक Yellow फंगस होने का मुख्य कारक आस पास की गंदगी है. ऐसे में घर के आस-पास साफ-सफाई रखना, व पुराने सड़े गले खाद्य पदार्थों को आस-पास से हटाना बेहद जरूरी है.

ये भी पढ़ें : गोरखपुर का ये गाँव दहशत में, 2 महीने में गईं 100 जानें, प्रधान भी Corona संक्रमित

 

Related Articles

Back to top button