बेटियों को इस राज्य में सरकार का बड़ा तौहफा, शादी के लिए देगी एक तोला सोना

असम सरकार अब माता-पिता के बोझ को थोड़ा हल्का करेगी इसके लिए एक योजना शुरू की है। असम सरकार अब राज्य में लड़कियों की शादी में एक तोला सोना देने जा रही है।

नई दिल्ली: देश में हर माता-पिता को अपनी बेटी की शादी में ज्वैलरी की चिंता हमेशा सताती रहती है। असम सरकार अब माता-पिता के बोझ को थोड़ा हल्का करेगी इसके लिए एक योजना शुरू की है। असम सरकार अब राज्य में लड़कियों की शादी में एक तोला सोना देने जा रही है। दरअसल, सरकार की अरुंधति गोल्ड योजना के तहत, माता-पिता को अपनी बेटी की शादी में मुफ्त में 10 ग्राम सोने का सिक्का दिया जाएगा।

अरुंधति गोल्ड स्कीम के तहत असम सरकार सिर्फ उन्ही परिवार की मदद करेगी जो 5 लाख रुपये से कम वार्षिक आय वाले है उन्हें 1 तोला सोना प्रदान करेगी। इस स्कीम के मुताबिक एक परिवार की पहली दो संतानों पर ही सोना दिया जाएगा। अरुंधति गोल्ड स्कीम के तहत, विवाह के पंजीकरण के बाद विवाहित बेटियां, 10 ग्राम सोने की हकदार हैं।

ये भी पढ़ें : शिवराज सरकार का लक्ष्य, गरीब परिवारों को मिले बेहतर रोजगार

इस गोल्ड स्कीम के कारण असम की बेटियों को कुछ वित्तीय सुरक्षा भी मिलेगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले स्पेशल मैरिज एक्ट, 1954 के तहत शादी के लिए पंजीकरण कराना होगा। इसके आवेदन के दिन ही बेटियां इस स्कीम के लिए आवेदन कर सकती हैं। शादी के लिए लड़की की उम्र कम से कम 18 साल और दूल्हे की उम्र लगभग 21 साल होनी चाहिए। सालाना 5 लाख रुपये से कम आये वाले परिवार को ही सिर्फ इस योजना का लाभ मिलेगा।

Related Articles