David Card, Joshua Angrist और guido imbanes को मिला इकोनॉमिक्स का नोबल

लंदन : इकोनॉमिक्स के लिए इस साल का नोबल प्राइज कनाडा के David Card, इजरायली-अमेरिकी Joshua Angrist और डच-अमेरिकी guido imbanes को संयुक्त तौर पर दिया गया है। इनमें से डेविड को प्राइज का आधा हिस्सा और जोशुआ और गुइडो संयुक्त तौर पर अन्य आधा हिस्सा मिलेगा।

David Card को आधा और बाकि दोनों को चौथाई इनाम मिलेगा

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में इकोनॉमिक्स के प्रोफेसर, डेविड को लेबर इकोनॉमिक्स में उनके योगदान के लिए नोबल प्राइज मिला है। उन्होंने एक्सपेरिमेंट्स का इस्तेमाल कर न्यूनतम वेतन, इमिग्रेशन और एजुकेशन के लेबर मार्केट पर प्रभावों का विश्लेषण किया है।उनके विश्लेषण से पता चला है कि न्यूनतम वेतन बढ़ने से नौकरियों में कमी आना जरूरी नहीं है। इसके साथ ही यह निष्कर्ष भी सामने आया है कि स्कूलों में संसाधन भविष्य के लेबर मार्केट की सफलता के लिए काफी महत्वपूर्ण होते हैं।

जोशुआ और गुइडो को लेबर मार्केट के बारे में नई जानकारियां उपलब्ध कराने के लिए यह प्रतिष्ठित प्राइज दिया गया है। इन प्राइज विजेताओं में 11.4 लाख डॉलर की पुरस्कार राशि बांटी जाएगी। अन्य नोबल प्राइज की तरह इकोनॉमिक्स के लिए प्राइज को अल्फ्रेड नोबल की वसीयत के अनुसार स्थापित नहीं किया गया था। इसे स्वीडन के सेंट्रल बैंक ने 1968 में उनकी याद में शुरू किया था। यह प्रत्येक वर्ष नोबल प्राइज की सीरीज में घोषित होने वाला अंतिम प्राइज होता है।

पिछले साल इकोनॉमिक्स के लिए नोबल प्राइज स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के इकोनॉमिस्ट्स पॉल मिल्ग्रोम और रॉबर्ट विल्सन को मिला था। उन्हें नीलामियों को अधिक कुशलता के साथ आयोजित करने की समस्या को सुलझाने के लिए नोबल प्राइज दिया गया था।

यह भी पढ़ें : Power Outage की संभावनाओं के बीच अमित शाह ने की हाई लेवल मीटिंग

Related Articles