मुंबई हमले के दोषी डेविड कोलमैन हेडली पर अमेरिकी जेल में हमला, हालत गंभीर

नई दिल्ली। मुंबई में हुए 26 नवंबर 2008 को हुए हमले की साजिश रचने वाले आतंकी डेविड कोलमैन हेडली पर जेल के अंदर कथित रूप से कैदियों ने हमला किया है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो हेडली की हालत नाजुक बनी हुई है। फिलहाल वो डॉक्टरों की देखरेख में आईसीयू में भर्ती हैं। हालांकि अमेरिकी अधिकारियों ने इस पर टिप्पणी से इनकार कर दिया है। जानकारी के मुताबिक,जेल में ही दो कैदियों ने हेडली पर 8 जुलाई को हमला कर दिया था।

डेविड कोलमैन हेडली

बताया जा रहा है जिन दो कैदियों ने हेडली पर हमला किया था वो दोनों सगे भाई हैं। ये दोनों कई साल पहले पुलिसकर्मियों पर हमला किए जाने के जुर्म में सजा काट रहे हैं। बताया जा रहा है कि गत 8 जुलाई को शिकागो की जेल में दो कैदियों ने हेडली पर हमला किया। इस हमले में हेडली गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके बाद उसे तुरंत अस्पताल में भारती कराया गया, जहाँ उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। उसे सीसीयू में रखा गया है और 24 घंटे उस पर निगरानी रखी जा रही है।

मुंबई में हुए 26/11 के हमलों की साजिश रचने के आरोप में हेडली शिकागो की फेडरल जेल में 35 साल की सजा काट रहा है। हालांकि शिकागो में मेट्रोपॉलिटन करेक्शनल सेंटर ने घटना के बारे में बताते हुए कहा, ‘हमारे पास उस व्यक्ति (हेडली) के बारे में सूचना नहीं है।’

कौन है हेडली 

डेविड कोलमैन हेडली पाकिस्तानी मूल का अमेरिकी आतंकी है। उसने पाकिस्तान में रहकर लश्कर के ट्रेनिंग कैंप में कई महीने गुजारे हैं। उसका 26 नवंबर 2008 के मुम्बई धमाकों में सबसे बड़ा रोल था। उसने आतंकी हमले से पहले पूरे शहर की कई बार रेकी की थी। हेडली लश्कर-ए-तैयबा के अंडरकवर एजेंट के तौर पर काम कर रहा था। उसने मुंबई हमले के लिए विस्तार से जानकारियां जुटाकर लश्कर को मुहैया कराई थीं। इसके लिए उसने भारत आकर हमले के ठिकानों की रेकी की। सितंबर 2006 से जुलाई 2008 के बीच हेडली पांच बार भारत आया था। हमले की ठिकानों की तस्वीरें लीं और पाकिस्तान जाकर चर्चा की।

26/11 हमलों की साजिश रचने के आरोपी लश्कर आतंकी अबू जुंदाल के खिलाफ चल रहे मुकदमे में हेडली की गवाही काफी अहम है। आतंकी अबू जुंदाल पर आरोप हैं कि मुंबई में हुए आतंकी हमलों के दौरान वह देश के बाहर बने एक कंट्रोल रूम से आतंकियों को निर्देश दे रहा था। उसे सऊदी अरब में गिरफ्तार किया गया था और 2012 में प्रत्यर्पित करके भारत लाया गया था। तबसे वह आर्थर रोड जेल में बंद है।

Related Articles