दाऊद इब्राहिम ने परिवार के प्रमुख सदस्यों को पाकिस्तान से भेजा बाहर

नई दिल्ली: पाकिस्तान (Pakistan) की सरजमीं से आतंकी नेटवर्क को खत्म करने के लिए वैश्विक दबाव बढ़ता देख भारत (India) का मोस्ट वांटेड भगोड़ा दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) ने अपने परिवार के प्रमुख सदस्यों को कराची से रवाना कर दिया है, जिसमें उसका बेटा और दो छोटे भाई शामिल हैं। भारतीय खुफिया सूत्रों ने मीडिया को बताया कि इससे पहले, दाऊद (Dawood) ने अपनी बड़ी बेटी माहरुख के लिए पुर्तगाली पासपोर्ट की व्यवस्था की थी। माहरुख की शादी पाकिस्तानी क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बेटे जुनैद से हुई है।

सूत्रों ने कहा कि दाऊद का छोटा भाई मुस्तकीम अली कास्कर पहले से ही दुबई में बसा हुआ है और संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और कतर में डी-कंपनी के ‘वैध’ कारोबार की देखभाल करता है। मुस्तकीम संयुक्त अरब अमीरात में एक कपड़ा कारखाना चलाता है। कथित तौर पर वही डी-परिवार के उन करीबी रिश्तेदारों की देखभाल भी करता है, जिन्हें हाल ही में कराची से दुबई भेजा गया था।

ये भी पढ़ें : जम्मू पुलिस ने आतंकी गिरोह का किया भंडाफोड़, दो को दबोचा

खुफिया सूत्रों ने बताया कि दाऊद का भाई अनीस इब्राहिम जो कराची में डिफेंस हाउसिंग एरिया में रहता है, वह भी पिछले दो हफ्तों से रडार के दायरे से बाहर है। दाऊद का कुख्यात लेफ्टिनेंट और जबरन वसूली करने वाला आदमी-छोटा शकील भी इन दिनों कम झूठ बोल रहा है।

ये भी पढ़ें : फर्जी आईडी बनवाकर पुलिस जवानों को दिखा रहा था गर्मी, गिरफ्तार

वर्ष 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट के एक आरोपी अनीस इब्राहिम ने भी डी-कंपनी के वित्तीय साम्राज्य की देखभाल के लिए अपने बच्चों को मध्यपूर्व के एक देश में भेज दिया है। इस समय इब्राहिम सिंध प्रांत के कोटली औद्योगिक क्षेत्र में कराची से 154 किमी दूर स्थित मेहरान पेपर मिल की देखभाल करता है।

Related Articles