खूबसूरत झीलों से सजा उदयपुर है परी नगर जैसा

0

फतेह सागर के बगल में सहेलियों की बाड़ी नाम का सुन्दर बाग है। हरियाली और झर-झर बहते फव्वारों की ठंडक टूरिस्ट्स को लुभाती है। बताते हैं कि इसे महाराणा संग्राम सिंह (द्वितीय) ने 1710 से 1734 के बीच राज परिवार की महिलाओं के सैरगाह के लिए बनवाया था। इसीलिए नाम सहेलियों की बाड़ी रखा गया।

Image result for udaipur

यह देश के मशहूर बागों में शुमार है। बाग के कई भाग हैं। नाम हैं- सावन भादो, हाथी फव्वारे, रासलीला, बिन बादल बरसात वगैरह। असल में, शुरुआती दौर में फतेह सागर के करीब छोटे-छोटे कई बगीचे थे। इन्हें महाराणा फतेह सिंह ने सहेलियों की बाड़ी में मिलाकर, भव्य स्वरूप प्रदान किया। खूबसूरती इस कदर है कि बॉलीवुड की कई फिल्मों में रूपहले पर्दे पर छाया है।

अगली स्लाइड में पढ़ें : यहां है सिटी पैलेस

loading...
1
2
3
4
शेयर करें