जनता के हितों के विकास के लिये समर्पित हूं: सिद्धार्थ नाथ

उन्होने कहा, “मैं जनता का कड़ी हूँ. जनता के हित के विकास में सबसे ज्यादा भागीदारी कराने के लिए प्रयासरत हूँ.” सिंह ने शहर एव गांव को सुंदर बनाने के आह्वान के साथ कहा “

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि वह जनता के सेवक हैं और उनके हितों के विकास में सबसे ज्यादा भागीदारी कराने के लिए प्रयासरत हैं.

सिंह ने रविवार को शहर पश्चिमी के भगवतपुर गांव में 100 शैय्या केंद्रीय चिकित्सालय (पी.यूरेथेन) के शिलान्यास के अवसर पर जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि यह एल टू का अत्याधुनिक अस्पताल होगा जो तैयार होकर जनता की सेवा में समर्पित होगा. यह समस्त सुविधाओं से सुसज्जित अस्पताल होगा. उनका सपना है कि गर्भवती महिलाओं के उपचार के लिए सबसे अच्छी व्यवस्था बने.

उन्होने कहा, “मैं जनता का कड़ी हूँ. जनता के हित के विकास में सबसे ज्यादा भागीदारी कराने के लिए प्रयासरत हूँ.” सिंह ने शहर एव गांव को सुंदर बनाने के आह्वान के साथ कहा “ जब हम रेलवे स्टेशन के बाहर आते है तो अच्छी सड़क, साफ सफाई, व्यवस्थित यातायात, कानून व्यवस्था दिखाई देता है. उससे लगता कि इसी शहर और गांव में निवेश करना चाहिए. यह तभी संभव होगा जब सरकार और जनता दोनो का सहयोग होगा. निवेशक आएंगे और शहर पश्चिमी में उद्योग स्थापित होंगे.”

सिंह ने कहा “पहले कौड़िहार टू के नाम से शहर पश्चिमी का ब्लॉक नाम से जाना जाता था अब भगवतपुर के नाम विकास खण्ड की पहचान होगी. महिलाओं की आर्थिक सुदृढ़ता के लिए समूहों को संगठित कर सामाजिक सुरक्षा और जीवन को बढ़ाने का लगातार योजनाओं से जोड़ रहा हूँ. युवाओं को भी तकनीक से जोड़कर आगे बढ़ाने के लिए पालीटेक्निक कालेज की स्थापना के लिए प्रयासरत हूँ.”

मंत्री ने कहा कि जल्द ही शहर पश्चिमी में युवाओं और महिलाओं के शिक्षा और रोजगार का हब होगा. शहर पश्चिमी से यमुनापार को जोड़ने के लिए जल्द यमुना में पुल बनेगा. साथ चौपटका से एयरपोर्ट के लिए फ्लाईओवर ब्रिज भी शुरू होने जा रहा है. मेदांता और पीजीआई गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए नहीं पड़ेगा शहर पश्चिमी में यूनाइटेड मेडिसिटी 900 बेड का अस्पताल बन चुका है.
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ जी एस बाजपेयी ने बताया कि 406.01 लाख रूपए की लागत वाला अस्पताल 31 अक्टूबर 2021 तक बनकर तैयार हो जाएगा. कुंभ मेले की तरह ओपीडी के लिये दो महीने में दो कक्ष बनकर तैयार होगा. ओपीडी की शुरुआत हो जाएगी. इस अवसर पर फूलपुर सांसद केसरी देवी पटेल ने महिलाओं को सशक्त बनने का आवाहन किया साथ अस्पताल का नाम सरदार वल्लभ भाई पटेल रखने की मांग किया जिस पर सिंह ने सहमति दिया.

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी आशीष कुमार, एसडीएम सदर अजय नारायण सिंह, महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी, पूर्व उपमहापौर लल्लू लाल कुशवाहा, पीयूष रंजन निषाद, क्षेत्रीय मंत्री कमलेश गौतम, राम लोचन साहू, पवन श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे.

यह भी पढ़े: गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान करे योगी सरकार: लल्लू

Related Articles

Back to top button