तमिलनाडु: खाना देने में की देरी तो पालतू कुत्तों ने उतारा मौत के घाट

तमिलनाडु: वैसे तो आपने कुत्तों के वफादारी की लाखों कहानियां सुनी होंगी. कई ऐसे वाक्ये भी सुने होंगे जहां एक कुत्ते ने अपने मालिक की जान बचाई हो. लेकिन अब जो हम आपको बताने जा रहे है उसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे. क्या आप ये सोच सकते है कि खाना मिलने में देरी होने पर पालतू कुत्ते को इतना गुस्सा आ जाए कि वो किसी की जान का दुश्मन बन जाये.

तमिलनाडु की ये घटना वाकई बेहद दर्दनाक है. तमिलना़डु में पालतू Rottweilers (कुत्ते की प्रजाति) ने 58 साल के एक व्यक्ति पर सिर्फ इसलिए हमला कर उसकी जान ले ली क्योंकि उसने खाना देने में देरी कर दी.

यह भी पढ़ें: नशीला पदार्थ देकर नेपाली किशोरी से सामूहिक बलात्कार, आरोपी गिरफ्तार

अचानक किया कुत्तों ने हमला

जानकारी के मुताबिक यह मामला कुड्डालोर जिले के चिंदमबरम का है। मृतक युवक का नाम के जीवनाथम बताया जा रहा है। जीवनाथम 2 पालतू Rottweilers को हर रोज खाना देते थे। लेकिन मंगलवार को वो उन्हें समय से खाना नहीं दे पाए, कुछ देर बाद जब जीवनाथम दोनों कुत्तों को खाना देने पहुंचे, तो दोनों कुत्तों ने उनपर हमला कर दिया।

के जीवनाथम वल्लमपड्डुगई गांव के रहने वाले थे। के जीवनाथम खेत में काम करते थे। यह खेत कांग्रेस के एक कार्यकर्ता एन विजयसुंदरम की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक करीब 3 साल पहले कांग्रेस के एक कार्यकर्ता एन विजयसुंदरम 2 रॉटविलर लेकर आए थे। इन दोनों कुत्तों को खेत की देखभाल के लिए रखा गया था। यह दोनों फसल की रक्षा करने में जीवनाथम को भी सहयोग करते थे।

कुत्तों के हमले में मौके पर ही तोड़ा दम

कुत्तों के हमले से बचने के लिए जीवनाथम ने भागने के कई प्रयास किये, लेकिन वो असफल रहे. दोनों कुत्तों ने उनके सिर पर हमला करते हुए उनके शरीर पर गहरे चोट के निशान बना दिए. हमला इतना क्रूर था की 58 साल के जीवनाथम की मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: कोरोना टीकाकरण (Vaccination) अभियान को लेकर तैयारियां जोरों पर, मुख्य सचिव ने की अहम बैठक

Related Articles

Back to top button