शर्म के कारण न छुपाएं ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण

0

आगरा। झिझक और शर्म के कारण ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों को नजरअंदाज करने का नतीजा है कि भारत में इससे होने वाली मौतों का ग्राफ अधिक है। डॉक्टर तो दूर घर के किसी सदस्य भी महिलाएं इस विषय पर चर्चा नहीं करती। जबकि ब्रेस्ट कैंसर का पता पहली स्टेज में चल जाए तो इसके 90 फीसदी तक टीक होने की सम्भावना होती है।

जितनी जल्‍दी पहचान होगी उतनी होगी आसानी

दिल्ली अपोलो की सर्जिकल ओंकोलॉजी विशेषज्ञ डा. शैफाली अग्रवाल ने क्लब 35 प्लस द्वारा क्लार्क शीराज में आयोजित कार्यशाला में दी। कहा कि जितनी जल्दी कैंसर की पहचान होगी, इलाज उतना ही सरल, सस्ता, छोटा और सफल होगा। ब्रेस्ट कंजर्विंग सर्जरी के बारे में जानकारी देते हुए डा. शैफाली ने बताया कि अगर कैंसर का पता पहली स्टेज में लग जाता है और महिला ब्रेस्ट नहीं निकलवाना चाहती तो ब्रेस्ट कंजर्विंग सर्जरी मददगार होती है।

अगली स्‍लाइड में पढ़ें डॉ. जयदीप ने क्‍या कहा

loading...
1
2
3
शेयर करें