दिल्ली विधानसभा ने Rakesh Asthana की नियुक्ति के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया

दिल्ली विधानसभा ने राकेश अस्थाना को दिल्ली पुलिस आयुक्त नियुक्त करने पर केंद्र के फैसले के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया है

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) ने राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana) को दिल्ली पुलिस आयुक्त (Delhi Police Commissioner) नियुक्त करने पर केंद्र के फैसले के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया है।

उनकी नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए AAP विधायकों ने मानसून सत्र के पहले दिन दिल्ली विधानसभा के नियम-55 के तहत यह मुद्दा उठाया। इस मसले पर सबसे पहले बोलने वाले आम आदमी पार्टी के विधायक संजीव झा (Sanjeev Jha) ने कहा कि राकेश अस्थाना को दिल्ली का नया पुलिस आयुक्त नियुक्त करना सुप्रीम कोर्ट के फैसले का उल्लंघन है।

पद के लिए नियुक्त नहीं

बुरारी से AAP विधायक संजीव झा ने कहा 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था कि 6 महीने से कम के कार्यकाल वाले किसी भी अधिकारी को शीर्ष पद के लिए नामित नहीं किया जाना चाहिए। वास्तव में अस्थाना मई 2019 में CBI प्रमुख बनने के लिए सबसे आगे थे। लेकिन शीर्ष अदालत के फैसले के बाद उन्हें इस पद के लिए नियुक्त नहीं किया गया। विधानसभा में इस मुद्दे पर बोलने वाले अन्य AAP विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी, सोमनाथ भारती और सत्येंद्र जैन थे।

विपक्ष के नेता और BJP के वरिष्ठ नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा, इस सदन को राकेश अस्थाना का दिल्ली पुलिस आयुक्त के रूप में स्वागत करना चाहिए। उनकी सेवा अवधि और कार्यों ने इस देश में एक उदाहरण स्थापित किया है। वह दिल्ली की बेहतरी के लिए काम करेंगे। जो ईमानदार हैं उन्हें अस्थाना की नियुक्ति से चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि वह भ्रष्ट लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हैं।

यह भी पढ़ेSherlyn Chopra का दावा, Raj Kundra जबरन करने लगे Kiss, जानें पूरी घटना

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles