हाईकोर्ट ने सरकार से मांगा शराब सेवन की उम्र घटाने संबंधी याचिका पर जवाब

नई दिल्ली| वर्तमान समय में शराब के प्रति युवाओं का झुकाव बढ़ता ही जा रहा है। आलम यह हो गया है कि बिना शराब के कोई भी पार्टी ख़त्म ही नहीं होती है। यही स्थिति राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की भी है। अब तो दिल्ली हाईकोर्ट में शराब पीने की उम्र घटाने तक की मांग करते हुए याचिका दाखिल कर दी गई है। हाईकोर्ट ने भी इस याचिका पर सुनवाई करते हुए सत्तारूढ़ आप सरकार ने जवाब मांगा है।

मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को दिल्ली सरकार से एक याचिका पर जवाब मांगा है, जिसमें राष्ट्रीय राजधानी में शराब सेवन की उम्र घटाने की मांग की गई है।

आपको बता दें कि यहां शराब सेवन की मौजूदा न्यूनतम उम्र 25 वर्ष है। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी.हरिशंकर ने मामले की सुनावाई नौ अक्टूबर को सूचीबद्ध कर दी।

इस याचिका को सामाजिक कार्यकर्ता कुश कालरा ने अपने वकील चारु वलीखन्ना के जरिए दाखिल किया था, जिसमें शहर में शराब की उत्तरदायी खपत व बिक्री को ध्यान में रखते हुए दिल्ली में शराब सेवन की कानूनी उम्र घटाने की मांग की गई है।

याचिकाकर्ता ने दिल्ली आबकारी अधिनियम की धारा 23 को अमान्य घोषित करने की मांग की, जिसमें राष्ट्रीय राजधानी में शराब का सेवन करने के लिए 25 वर्ष की आयु निर्धारित की गई है। याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में सिक्किम और गोवा जैसे राज्यों का उदाहरण दिया, जहां शराब पीने की उम्र क्रमश: 18 व 21 वर्ष है।

 

Related Articles