दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की हनीप्रीत की जमानत याचिका, कुछ इस तरह दिया जवाब

0

नई दिल्ली: पिछले एक महीने से फरार चल रही डेरा सच्चा सौदा के मुखिया राम रहीम की मुंहबोली बेटी और कथित प्रेमिका हनीप्रीत की गिरफ्तारी से बचने वाली चाल बेकार साबित हुई है। दरअसल, मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत द्वारा दायर की गई अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है।

दरअसल, हनीप्रीत में बीते दिन दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की थी। उन्होंने अपनी याचिका में जान का खतरा बताया था। याचिका पर सुनवाई के दौरान हनीप्रीत के वकील ने कोर्ट को बताया था कि हनीप्रीत की जान को खतरा है। इसलिए चंडीगढ़ जाने के लिए तीन हफ्ते की अग्रिम जमानत दी जाए। हनीप्रीत की ओर से कहा गया कि दिल्ली में पुलिस गिरफ्तार कर सकती है। आगे ग्रेटर कैलाश में पुलिस ने मेरे घर पर भी छापा मारा।

इस पर कोर्ट ने कहा कि दिल्ली से चंडीगढ़ जानें में सिर्फ चार घंटे का समय लगता है आपको तीन हफ्ते क्यों चाहिए? इसके साथ ही कोर्ट ने सवाल किया कि अगर आपको जान का खतरा है तो यहां कोर्ट में सरेंडर कीजिए। हम आपको सुरक्षा देंगे। कोर्ट ने कहा कि यह दिल्ली का मामला नहीं बनता। वह पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दे सकती है।

हरियाणा पुलिस के वकील ने कहा कि हनीप्रीत का बैकग्राउंड क्लीन नहीं है। यदि वो दिल्ली में है, तो उसे पुलिस को बताना चाहिए। वकील ने कहा कि दिल्ली हनीप्रीत का न्यायिक क्षेत्र ही नहीं बनता। न तो उसका पासपोर्ट दिल्ली का है, न ही पता। इसलिए उसे ट्रांजिट बेल नहीं दी जानी चाहिए।

कोर्ट ने कहा कि हनीप्रीत को तीन हफ्ते का ट्रांजिट बेल क्यों चाहिए?  इस पर हनीप्रीत के वकील ने कहा कि पंजाब और हरियाणा में उसके खिलाफ माहौल है। कोर्ट ने पूछा, क्या हनीप्रीत दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर करने के लिए तैयार है।

आपको बता दें कि रेप मामले में दोषी ठहराए गए राम रहीम रोहतक जेल में सजा काट रहे हैं। राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद से ही पुलिस हनीप्रीत की तलाश में भी लग गई थी लेकिन उसे अभी तक कोई सफलता नहीं मिल सकी है।

loading...
शेयर करें