IPL
IPL

Delhi-Meerut Expressway: हाईटेक तकनीक से कटेगा टोल, जानिए कैसे भरा जायेगा टोल

8346 करोड़ में तैयार हुए एक्सप्रेस-वे के चार चरणों की डिजायन लंबाई 85 किलोमीटर है और वर्तमान लंबाई 82 किलोमीटर है। दिल्ली के निजामुद्दीन से यूपी गेट यूपी गेट से डासना और डासना से मेरठ तक के मुख्य तीन चरणों की लंबाई 60.4 किलोमीटर है।

मेरठ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर गुरुवार यानी एक अप्रैल की सुबह से वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है। दिल्ली से मेरठ का सफर यानी 60.4 km का सफर 45 मिनट में ही तय किया जा सकेगा। हालांकि कल भी वाहनों की आना जाना लगा हुआ था। आज एक्सप्रेस-वे पर करीब पचास हजार वाहनों के आने जाने का अंदेशा लगाया जा रहा है। टोल के दाम तय न होने की वजह से फिलहाल टोल नहीं वसूला जाएगा।

एक्सप्रेस-वे के चारों हिस्सों का पूरा विवरण

  • पहला निजामुद्दीन से यूपी गेट चालू हो गया है
  • दूसरा यूपी गेट से डासना चालू हो गया है
  • तीसरा डासना से हापुड़ चालू हो गया है
  • चौथा डासना से मेरठ चालू हो गया

टोल वसूलने के लिए आटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर सिस्टम (NPR ) का इस्तेमाल करने के लिए CCTV कैमरे लगा दिए गए हैं। 8,346 करोड़ में तैयार हुए एक्सप्रेस-वे की वर्तमान लंबाई 82 किलोमीटर है। दिल्ली के निजामुद्दीन से यूपी गेट, यूपी गेट से डासना और डासना से मेरठ तक के मुख्य तीन चरणों की लंबाई 60.4 किलोमीटर है। इस हिसाब से दिल्ली से मेरठ तक का सफर अब मात्र 45 मिनट में पूरा होगा। डासना से हापुड़ बाइपास को भी इस प्रोजेक्ट का हिस्सा बनाया गया है तथा इसकी लंबाई 21 किलोमीटर है।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे को एक अप्रैल से मेरठ तक वाहनों के लिए खोला जा रहा है। पहले दिन से ही पचास हजार वाहनों का अंदेशा लगाया जा रहा है जो आगे चल कर एक लाख तक पहुंच जाएगी। आधुनिक तकनीक पर आधारित एएनपीआर सिस्टम के जरिए टोल वसूली की जाएगी। वाहनों की स्पीड नियंत्रण के लिए भी कैमरे लगाए गए हैं।

ये भी पढ़ें: IPL 2021: Marsh के OUT होने के बाद Hyderabad में इस खिलाड़ी की हुई Entry

ये खबर हमारे इंटर्न कार्तिकेय शर्मा ने लिखी है।

Related Articles

Back to top button