किराया बढ़ने से यात्री नाराज, बोले – मेट्रो में पैर रखने को जगह नहीं होती, घाटे में कैसे?

0

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो ने मंगलवार को दिल्ली सरकार के विरोध के बावजूद अपने किराए में वृद्धि कर दी है। वहीं, इस बढ़ोत्तरी पर यात्रियों ने अपनी नाराजगी जताई है। दो किलोमीटर की दूरी के लिए न्यूनतम किराया 10 रुपये ही रहेगा, लेकिन लंबी दूरी की यात्रा के लिए मंगलवार से मेट्रो किराए में वृद्धि हो गई है।

दिल्ली मेट्रो

इस साल दिल्ली मेट्रो के किराए में दूसरी बार वृद्धि की गई है

इस साल दिल्ली मेट्रो के किराए में दूसरी बार वृद्धि की गई है। पश्चिम विहार से राजीव चौक की यात्रा करने वाले वित्तीय सेक्टर में कार्यरत अजय (40) कहते हैं, यह वृद्धि किसी भी लिहाज से ठीक नहीं है। इस तरह की भारी वृद्धि से कौन खुश होगा, वह भी एक साल में दो बार। यह लगभग दोगुना है।

आज से मुझे इतनी ही दूरी के लिए 40 रुपये का भुगतान करना होगा

कल तक मैं 27 रुपये किराया देता था और आज से मुझे इतनी ही दूरी के लिए 40 रुपये का भुगतान करना होगा। जापानी कंपनी में काम करने वाले अरविंद त्रिपाठी ने कहा, मैंने आज बाटा चौक से राजीव चौक तक के लिए 60 रुपये का भुगतान किया। यह अच्छा नहीं है। एक यात्री ने बताया कि किराये में बढ़ोतरी के लिए घाटे को वजह बताया जा रहा है लेकिन यहां पैर रखने की जगह नहीं हो घाटा कैसे हो रहा है।

शेयर करें