दिल्ली पुलिस ने उमर खालिद के खिलाफ दायर की चार्जशीट, नताशा से हुई थी 720 सेकेंड बात

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने जेएनयू में भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगाने वाले उमर खालिद के खिलाफ दिल्ली में हिंसा करने की साजिश करने के आरोप में यूएपीए के तहत चार्जशीट फाइल की है। दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट में बताया कि उमर खालिद 2016 से 2020 तक कई अपराधिक गतिविधियों में भाग ले चुका है।

उमर खालिद के ऊपर टेरेरिस्ट एक्ट का इल्जाम

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बताया कि उमर खालिद ने कई आपराधिक साजिश रची हैं और उसने कई टेरेरिस्ट ऐक्ट भी किया है। 2020 में देशद्रोह उमर खालिद ने नारा दिया था कि ‘तेरा मेरा रिश्ता क्या है ला इलाहा इलल्लाह’।

उमर खालिद कर रहा था सब कंट्रोल

दिल्ली पुलिस के मुताबिक देशद्रोह का आरोपी उमर खालिद के खिलाफ उनके पास कई सबूत हैं जिनके आधार पर पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट में पुलिस ने बताया कि उमर खालिद सब कुछ ऑपरेट कर रहा था। ऑपरेशन का रिमोट कंट्रोल उमर खालिद के हाथ में ही था।  स्पेशल सेल का कहना है कि जिस दिन दिल्ली में हिंसा हुई उससे एक दिन पहले 23 फरवरी को उमर खालिद इंडिगो की फ्लाइट से समस्तीपुर के लिए निकल गया था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक उन्हें कई कॉल डिटेल, चैट, फोटो मिले हैं जो सीलमपुर में किए गए मीटिंग के सबूत हैं।

उमर खालिद और नताशा के बीच 720 सेकेंड़ हुई बातचीत

पुलिस ने 24 अक्टूबर को बिहार में मौजूद उमर खालिद और पिंजडा तोड़ की सदस्य नताशा के बीच 720 सेकेंड की हुई बातचीत का भी जिक्र चार्जशीट में किया है। जिसमें नताशा उमर खालिद को ऑपरेशन का पूरा अपडेट दे रही हैं। 24 अक्टूबर की शाम को नताशा को गिरफ्तार कर लिया गया था।

पुलिस के मुताबिक उमर खालिद जिस वाट्सएप गुरप के जरिए लोगों से बाते करता था उस ग्रुप के एक सदस्य ने ग्रुप में मैसेज कर दिया था कि उसे पता चल गया है कि ये लोग क्या करना चाहते हैं और वो ये सब सबको बता देगा जिसके बाद से ही ग्रुप के बाकी सदस्य परेशान हो गए थे। इसके बाद ही उमर खालिद और नताशा की बातचीत हुई।

300 औरतों को बस से भेजा गया था सलीमपुर

इसके अलावा एक और कॉल जो कि तबरेज नाम के शख्स और जाह्नवी मित्तल नाम की महिला के बीच हुई थी का भी जिक्र दिल्ली पुलिस ने किया है जिसमें जाह्नवी तबरेज को अपना मुंह बन्द रखने की बात कह रही थी। दरअसल तबरेज ने ही 300 औरतों को बस से जहांगीरपुर से जफाराबाद और सलीमपुर भेजा था जहां पर उन महिलाओं ने पत्थरबाजी कर के हिंसा को भड़काया था। जाह्नवी इस बात को किसी से भी नही बताने के लिए तबरेज से कह रही थी। गौरतलब है कि उमर खालिद ने 2016 में जेएनयू में हो रहे प्रदर्शन में भारत तेरे टुकड़े होंगे का नारा लगाया था जिसके बाद उमर खालिद के ऊपर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़ें: राजधानी में लोग झेल रहे दोहरी मार, एक तरफ प्रदूषण तो दूसरी तरफ कोरोना का वार

Related Articles

Back to top button