मुख्य सचिव से बदसलूकी मामले में केजरीवाल के घर पहुंची दिल्ली पुलिस, खंगाले गए सीसीटीवी फुटेज

0

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई बदसलूकी मामले में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) की गर्दन पर जांच की तलवार लटकती नजर आ रही है। दरअसल, इस मामले की जांच करते हुए दिल्ली पुलिस मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के घर तक जा पहुंची है और सीसीटीवी फुटेज खंगालना शुरू कर दिया है। केजरीवाल के घर में लगे सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से दिल्ली पुलिस आरोपी विधायकों के घिरेहबान तक पहुंचना चाह रही है। साथ ही पुलिस इस मामले में सीएम केजरीवाल की भूमिका भी तलाशने में जुटी है।

दिल्ली पुलिस

मिली जानकारी के अनुसार, मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आप विधायकों द्वारा की गई बदसलूकी के मामले की जांच करते हुए शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने सीएम केजरीवाल के घर का निरिक्षण किया। यहां पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज तो खंगाले ही, साथ ही उन कमरों का भी निरिक्षण किया जहां घटना घटी थी। बताया जा रहा है कि सीएम आवास से मिले सीसीटीवी फुटेज मामले की जांच में अहम सबूत साबित हो सकते हैं।

दिल्‍ली पुलिस को शक है कि मुख्‍यमंत्री आवास से मीडिया में जो सीसीटीवी फुटेज लीक की गई है, उसमें टाइम के साथ कुछ छेड़छाड़ की गई है। दिल्‍ली पुलिस की त्‍वरित कार्रवाई का यह एक बड़ा कारण हो सकता है।

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस का यह निरिक्षण मुख्यमंत्री के सलाहकार वीके जैन के उस बयान के बाद किया गया है जिसमें उन्होंने बताया था कि मुख्य सचिव के साथ बदसलूकी के वक्त सीएम केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया मौके पर मौजूद थे। जैन ने कोर्ट में दिए अपने बयान में कहा था कि मुख्य सचिव के साथ आप विधायकों ने मारपीट की शुरुआत की थी, लेकिन मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने बचाने की कोई कोशिश नहीं की।

वीके जैन के बयान के बाद दिल्ली पुलिस अब इस मामले में केजरीवाल और मनीष सिसौदिया की भूमिका तलाशने में जुटी है। पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि कहीं यह घटना मुख्‍यमंत्री के इशारे पर तो नहीं की गई। साथ ही दिल्ली पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि मुख्य सचिव के साथ बदसलूकी अचानक हुई या फिर यह पूर्व नियोजित थी। दरअसल, इतनी रात में मुख्य सचिव को सीएम आवास पर बुलाना और मौके पर इतने विधायकों की मौजूदगी इस घटना के पूर्व नियोजित होने की ओर इशारा कर रही है।

आपको बता दें कि दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने मंगलवार को आप के दो विधायकों पर मारपीट करने का आरोप लगाया था। उनका आरोप था कि आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्लाह खान और एक अन्य विधायक ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने उनके सरकारी आवास में उनसे मारपीट की थी।

एफआईआर के मुताबिक, मुख्यमंत्री के सलाहकार वीके जैन ने मुख्य सचिव को सोमवार की रात पौने नौ बजे फोन पर कहा कि सरकार के तीन साल पूरा होने पर कुछ टीवी विज्ञापनों के प्रसारण में हो रही देरी पर बातचीत होगी। इसके लिए रात 12 बजे मुख्यमंत्री आवास पहुंचना है। वहां सीएम व उप मुख्यमंत्री उनसे विचार-विमर्श करेंगे। जैन ने रात नौ बजे और फिर घंटे भर बाद भी फोन किया।

loading...
शेयर करें