Delhi riots: उमर खालिद की जमानत याचिका पर सुनवाई 9 अक्टूबर तक स्थगित

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने 2020 के दिल्ली दंगों की साजिश मामले में JNU के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद की जमानत याचिका पर सुनवाई गुरुवार को 9 अक्टूबर के लिए स्थगित कर दी है।

सुनवाई अगले महीने के लिए स्थगित कर दी गई क्योंकि अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत छुट्टी पर हैं। इसकी जानकारी कोर्ट स्टाफ ने खालिद के वकीलों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए दी है।

वकील ने आरोपों का बताया वेब सीरीज की कहानी

उमर खालिद के साथ कई अन्य लोगों पर मामले में आतंकवाद विरोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन पर फरवरी 2020 की हिंसा का “मास्टरमाइंड” होने का आरोप है, जिसमें 53 लोग मारे गए थे और 700 से अधिक घायल हो गए थे। 6 सितंबर को खालिद ने अपनी जमानत याचिका वापस ले ली थी और अभियोजन पक्ष द्वारा इसकी स्थिरता पर आपत्ति के बाद एक नई याचिका दायर की थी।

3 सितंबर को हुई सुनवाई में खालिद ने अपने वकील के जरिए कोर्ट को बताया कि मामले में आरोप पत्र में बिना किसी तथ्यात्मक आधार के अतिशयोक्तिपूर्ण आरोप लगाए गए हैं और यह किसी वेब सीरीज और न्यूज चैनलों की स्क्रिप्ट की तरह है। दिल्ली पुलिस ने पहले कहा था कि जमानत याचिका में कोई दम नहीं है और यह मामले में दायर आरोप पत्र का हवाला देकर अदालत के समक्ष उसके खिलाफ प्रथम दृष्टया मामला प्रदर्शित करेगी।

यह भी पढ़ें: बेंगलुरु: इमारत में हुआ विस्फोट, 3 की मौत, 2 घायल

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)..

Related Articles