घर में भी मास्क पहनने को मजबूर दिल्लीवासी: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को बिगड़ती दिल्ली से संबंधित एक याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र से कहा कि वायु प्रदूषण एक गंभीर स्थिति है। मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने कहा, “हमें घर पर भी मास्क पहनना है”।

प्रधान न्यायाधीश ने कहा, “आप देखिए, स्थिति कितनी खराब है..हमारे घरों में भी, हम मास्क पहने हुए हैं।” सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से यह भी पूछा कि वायु प्रदूषण से निपटने के लिए उसने क्या कदम उठाए हैं।

इसके अलावा, सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को एक हलफनामा दायर करने और केंद्र, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब सरकारों को प्रतियां देने के लिए कहा था। राष्ट्रीय राजधानी में हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर श्रेणी’ में गिर गई, जिससे दिल्लीवासी शनिवार सुबह ताजी हवा के लिए हांफ रहे थे। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने बताया कि शहर में वायु गुणवत्ता सूचकांक 499 है, जो ‘गंभीर श्रेणी’ में है।

यह भी पढ़ें: त्रिपुरा हिंसा के विरोध में महाराष्ट्र के शहरों में पुलिस, दुकानों पर हमला

Related Articles