दिल्ली के शिक्षा निदेशालय ने फीस माफ़ी के लिए CBSE board को लिखा पत्र

पुणे : दिल्ली के शिक्षा निदेशालय ने CBSE board को पत्र लिखकर उससे  कोविड के आर्थिक प्रभावों के चलते सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए दसवीं और बारहवीं कक्षाओं की बोर्ड परीक्षा शुल्क माफ करने को आग्रह किया है।

CBSE board ने कॉविड में अपने पैरेंट्स को खोने वाले बच्चों की रजिस्ट्रेशन फीस की माफ़

इसके लिए शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश ने बोर्ड के चेयरमैन को पत्र लिखा है। हालांकि बोर्ड की ओर से अभी तक इस पत्र का जवाब नहीं दिया गया है। उदित ने कहा कि उन्हें कई अभिभावकों से अनुरोध मिल रहे हैं, जिसमें वो कोरोना महामारी के चलते हुए आर्थिक नुकसान से फीस नहीं भर पा रहे हैं।  इस पत्र में कहा गया है कि महामारी ने एक आर्थिक संकट पैदा कर दिया है। कोरोबार बंद हो गए हैं। दुनिया भर में नौकरियों में कटौती हुई है। कोविड के चलते काफी लोग बेरोजगार भी हुए हैं। अब लंबे समय बाद स्कूलों में एक बार फिर से स्कूल खुले हैं। बोर्ड ने रजिस्ट्रेशन कराने और परीक्षा फीस जमा कराने को कहा है। इससे माता-पिता के सामने फीस जमा कराने की समस्या आ गई है।

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस हफ्ते के शुरुआत में बोर्ड ने ऐलान किया था कि वह उन छात्रों से परीक्षा फीस या रजिस्ट्रेशन फीस नहीं लेगा, जिन छात्रों ने कोरोना वायरस महामारी में अपने पैरेंट्स को खो दिया है।

यह भी पढ़ें : एलॉन मस्क का Grimes के साथ हुआ ब्रेकअप, तीन साल का टूटा रिश्ता

Related Articles