किसान आंदोलन के समर्थन में शोषित समाज दल ( SSD )

शोषित समाज दल ( SSD ) ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए सरकार से तीनों कृषि कानून को वापस लेने की मांग की है।

पटना: शोषित समाज दल ( SSD ) ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए सरकार से तीनों कृषि कानून को वापस लेने की मांग की है। एसएसडी ( SSD ) के अध्यक्ष रघुनीराम शास्त्री ने रविवार को यहां प्रथम शिक्षिका सावित्री बाई फुले ( Savitri Bai Phule ) की 190वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि एसएसडी कृषि क़ानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन ( Peasant movement ) का समर्थन करता है।

उन्होंने केंद्र सरकार ( Central government ) से इन कानूनों को शीघ्र वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि देश के तमाम स्थितिवादी 21वीं शताब्दी में पुरानी पार्टी से हटकर दबे-कुचले लोगों से समता का व्यवहार करने के लिए तैयार रहें अन्यथा इतिहास उनका नाम काले अक्षरों में अंकित करेगा। रघुनीराम शास्त्री ने कहा कि जिस समय देश की हिन्दू संस्कृति ने महिलाओं और शूद्रों को शिक्षा से वंचित कर रखा था तब सावित्री बाई फुले ने इन शोषित वर्ग के लोगों को शिक्षित करने के लिए जागरूक किया।

ये भी पढ़ें : अमेरिका में पिछले 24 घंटे में COVID-19 के तीन लाख से अधिक नए मामले

इस मौके पर एसएसडी के पटना जिलाध्यक्ष अखिलेश कुमार ने कहा कि देश में सामाजिक विषमताएं हैं। आज भी लोग हिन्दू संस्कृति, मनु स्मृति और वेद-पुराण का कानून चलाना चाहते हैं। शोषित समाज दल भारतीय संविधान के परिप्रेक्ष्य में समतामूलक मानववादी सिद्धांत लागू करना चाहता है। उन्होंने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि ये कृषि कानून किसानों के खिलाफ है और उन्हें उनकी ही जमीन पर गुलाम बनाने की साजिश है इसलिए एसएसडी केंद्र सरकार से इन कानूनों को अविलंब वापास लेने की मांग करता है।

Related Articles

Back to top button