आठ दिनों से चल रहा किसानों का प्रदर्शन, केंद्र सरकार ने दिए साफ संकेत

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून बिल को वापस लेने की मांग लेकर दिल्ली बॉर्डर पर किसान अपना डेरा जमाये हुए। किसानों का लगातार आठ दिनों से प्रदर्शन चल रहा है।

नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून बिल को वापस लेने की मांग लेकर दिल्ली बॉर्डर पर किसान अपना डेरा जमाये हुए। किसानों का लगातार आठ दिनों से प्रदर्शन चल रहा है। वही केंद्र सरकार ने साफ संकेत दिए हैं कि कृषि कानून को वापस नहीं लेगी।

गुरुवार को किसान नेताओं से कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने इस मामले पर बात की। उन्होंने विज्ञान भवन में बैठक के दौरान किसान नेताओं को जवाब दिया और कहा है एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) को नहीं छुआ जाएगा और इसमें कोई भी बदलाव नहीं होगा। उन्होंने विज्ञान भवन में बैठक के दौरान किसान नेताओं को जवाब दिया।

किसानों का लगातार आठवें दिन प्रदर्शन जारी

केंद्र सरकार के कृषि कानून के खिलाफ किसान लगातार आठवें दिन प्रदर्शन कर रहे हैं, दिल्ली बॉर्डर पर हजारों किसान अपना डेरा जमाये हुए। इस बीच शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी हमारे देश के किसानों को देश-विरोधी कैसे कह सकते हो? किसान विरोध में शामिल बुजुर्ग महिलाएं, क्या वे खालिस्तानियों की तरह दिखती हैं? देश के किसानों को देशद्रोही कहने का क्या यह तरीका बिलकुल गलत है यह किसानों का अपमान है।

ये भी पढ़े : गुजरात: मास्क को लेकर दिए गए हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

क्या बीजेपी या किसी को किसी को भी राष्ट्र-विरोधी घोषित करने का अधिकार है? किसानों ने अपना पूरा जीवन राष्ट्र को समर्पित कर दिया है अब आप उन्हें राष्ट्रविरोधी कह रहे हैं. जो लोग उन्हें देशद्रोही कह रहे हैं वे वास्तव में देशद्रोही हैं।

Related Articles

Back to top button