विकास केवल अंग्रेजों के हित में था, भारत के हितों से कोई लेना देना नहीं: शशि थरूर

लोकसभा सांसद शशि थरूर ने मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल के अंतिम दिन में रविवार को कहा कि रेलवे के साथ-साथ औपनिवेशिक शासन में किया गया ढांचागत विकास केवल अंग्रेजों के हित में किया गया था।

चंडीगढ़: लोकसभा सांसद शशि थरूर ने मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल के अंतिम दिन में रविवार को कहा कि रेलवे के साथ-साथ औपनिवेशिक शासन में किया गया ढांचागत विकास केवल अंग्रेजों के हित में किया गया था।

उन्होंने कहा कि अंग्रेजों द्वारा शुरू से ही यह तर्क दिया जाता रहा है कि उन्होंने भारत में कई संस्थानों और प्रथाओं का निर्माण किया जिनसे भारत को फायदा हुआ है, लेकिन समस्या यह है कि उनमें से किसी का भी भारत के हितों से कोई लेना-देना नहीं था। हर एक चीज जिसकी वे बात करते हैं, वह केवल अंग्रेजों के लिए बनाई गई थी ताकि वे अपनी भूमिका को लंबा खींच सकें या अपने लाभ को बढ़ा सकें।

थरूर ने कहा कि रेलवे इसका सबसे अच्छा उदाहरण है क्योंकि इसे केवल बंदरगाहों तक समान पहुंचाने के लिए बनाया गया था जहाँ से समान को इंग्लैंड भेजा जा सकता था और इसका एक अन्य उद्देश्य भारत के हर हिस्से में सेना को पहुंचाना था ताकि विद्रोह या कानून और व्यवस्था की स्थिति को काबू में किया जा सके।

ये भी पढ़ें : भारतीय क्रिकेटर यो महेश ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की

अपनी नई पुस्तक के बारे में बात करते हुए थरूर ने कहा कि जब वह पुस्तक प्रकाशित करेंगे, तो यह किसी भी तरह से हमारी सरकार की तरफ से की गई नाकामियों की जिम्मेदारी से बचने का कोई बहाना नहीं होगा और न ही किसी तरह से अपने आप को सही ठहराने की कोई कोशिश होगी क्योंकि जो बीत गया सो बीत गया बल्कि वह सोचते हैं कि हरेक समाज को अतीत जाने का हक है।

Related Articles