डीजीसीए ने जारी किया सर्कुलर, अंतरराष्ट्रीय उड़ाने 31 दिसंबर तक रद्द

देश भर में बढ़ते कोरोना के मामले को ध्यान में रखते हुए इस साल 31 दिसंबर तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बंद कर दिया हैं। इसके लिए डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने गुरुवार को एक सर्कुलर जारी करते हुए कहा है

नई दिल्ली: देश भर में बढ़ते कोरोना के मामले को ध्यान में रखते हुए इस साल 31 दिसंबर तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बंद कर दिया हैं। इसके लिए डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने गुरुवार को एक सर्कुलर जारी करते हुए कहा है कि भारत में और उससे उड़ान भरने वाली सभी निर्धारित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानें 31 दिसंबर तक निलंबित रहेंगी। विमान केवल चुनिंदा मार्गों पर उड़ान भरेंगे। कोरोना महामारी के चलते भारत ने 23 मार्च से 30 नवंबर तक अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को रद्द कर दिया था। जिसका समय एक बार फिर बढ़ा कर 31 दिसंबर तक कर दिया है।

डीजीसीए ने कहा कि सीमित मार्गों पर चुनिंदा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को सक्षम अधिकारियों द्वारा मामले के आधार पर संचालन की अनुमति दी जा सकती है। इससे पहले डीजीसीए ने पहले कोरोना महामारी के चलते लगाए गये लॉकडाउन होने के बाद भारत में 23 मार्च से भारत में 30 नवंबर तक अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को रद्द कर दिया था। विमानों को चुनिंदा मार्गों पर उड़ान भरने की अनुमति दी थी। ठंड के बढ़ते मौसम के साथ कोरोना के बढ़ते कोरोना की वजह से इसका समय बढ़ा कर 31 दिसंबर तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों रद्द कर दिया है।

ये भी पढ़े : ओआईसी ने दिया पाकिस्तान को झटका, मुस्लिम देश की बैठकों में शामिल नहीं कश्मीर मुद्दा

इसके कारण सभी निर्धारित अंतरराष्ट्रीय यात्री सेवाओं को भी रोक दिया गया है, लेकिन विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मई से और जुलाई से चुनिंदा देशों के साथ द्विपक्षीय ‘एयर बबल’ व्यवस्था के तहत चल रही हैं। भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई, केन्या, भूटान और फ्रांस सहित लगभग 18 देशों के साथ एयर बबल समझौते किए हैं। एक एयर बबल पैक्ट के तहत दो देशों के बीच विशेष अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को उनके क्षेत्र के बीच उनकी एयरलाइंस द्वारा संचालित कर सकते है।

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button