DIAL 100, दस मिनट में पुलिस पहुंचेगी आपके पास

c0de564d-2486-452f-b9a5-bea279f59a2a
DIAL 100 भवन के शिलान्यास के मौके पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

लखनऊ। अपराध पर काबू करने और अपराधियों को तत्काल पकड़ने के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट DIAL 100 भवन का मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को शिलान्यास किया। इस योजना के शुरू होने के बाद 100 नंबर डायल करते ही शहरों में 10 मिनट और गाँवों में 20 मिनट में पुलिस पहुंचेंगी। DIAL 100 का भवन 8 एकड़ में बनेगा। यह एक साल में बन कर तैयार हो जायेगा। DIAL 100 में 4800 से ज्यादा वाहन होंगे। 1600 टू व्हीलर भी लगेंगे। यह प्रोजेक्ट दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क होगा। अमेरिका की 911 की तर्ज पर होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि क्राइम का तरीका बदल रहा है। ऐसे में उन्हें काबू करने के तरीके भी बदलने पड़ते हैं। पुलिस को अच्छी ट्रेनिंग की जरूरत है। पुलिस पर बड़ी जिम्मेदारी है, कई चुनौतियां हैं। अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई एक प्रदेश ऐसा नहीं जहाँ इतना विकास हुआ हो। इतनी सड़कें बनी हों एक्सप्रेस वे बना हो। जितना समाजवादियों ने लखनऊ को दिया उतना किसी ने नहीं दिया। आज अमूल प्लांट सपा की ही देन है। सपा ने जनेश्वर और लोहिया पार्क देकर लोगों को ऑक्सीजन वाली जगह दी है।

3a45f289-5f6e-4dc5-a384-15cdd54ef2d3
DIAL 100 भवन के शिलान्यास के मौके पर पुलिस के आला अफसर इस योजना की बारीकियों का अध्य्यन करते हुए

मुख्यमंत्री ने कहा कि महंगाई तब कम होगी जब किसानों को सुविधा मिलेगी। गांव में सुविधा देने से पल्यूशन की समस्या काफी हद तक दूर होगी। उन्होंने कहा कि योग सिखा रहे बाबा रामदेव अब सबको खाना खिला रहे हैं। अब फ़ास्ट फ़ूड के नाम पर मैगी खिला रहे हैं। कल उनसे हुई मुलाक़ात अच्छी रही।

इसी साल अमेरिका जाकर DIAL 911 की कार्यप्रणाली का एक प्रतिनिधिमंडल ने किया था अध्ययन

2015 में 29 अगस्त से नौ सितम्बर तक अमेरिका में यूपी से एक दल अमेरिका गया था। वहां कई स्थानों का भ्रमण कर डायल 911 का विस्तृत व गहन अध्ययन किया। उच्चस्तरीय दल में प्रदेश के प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पण्डा, गृह विभाग के सलाहकार वेंकट चंगावल्ली, सचिव गृह कमल सक्सेना, एडीजी यातायात अनिल अग्रवाल, आईजी वीमेन पॉवर लाइन नवनीत सिकेरा आदि शामिल थे। डायल 100 प्रणाली की सेवाओं की नेतृत्व क्षमता को और अधिक प्रभावी बनाये जाने के संबंध में डायल 911 प्रणाली में अपनायी जाने वाली प्रक्रिया का सूक्ष्म निरीक्षण किया गया। विदेश में इन केन्द्रों पर आने वाली सूचनाओं के आदान-प्रदान में लगे कर्मचारियों के प्रशिक्षण की प्रक्रिया व उसमें लगने वाले समय आदि विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तार से जानकारी प्राप्त की गयी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button