UP पुलिस की शर्मनाक हरकत, बच्ची को ढूंढने के लिए उसकी मां से करवाया ऐसा काम…

एक दिव्यांग महिला का आरोप है कि पुलिस उसकी बच्ची को ढूंढने के लिए उससे रिश्वत ले रही है। रिश्वत के तौर पर पुलिसकर्मियों ने दिव्यांग महिला से अपनी गाड़ी में 10 से 15 हजार रुपये का डीजल डलवाया है ताकि वो उसकी नाबालिग लड़की को ढूंढ सकें।

लखनऊ: यूपी पुलिस पर एक बार फिर से सवाल खड़े हो रहे हैं। दरअसल एक दिव्यांग महिला का आरोप है कि पुलिस उसकी बच्ची को ढूंढने के लिए उससे रिश्वत ले रही है। रिश्वत के तौर पर पुलिसकर्मियों ने दिव्यांग महिला से अपनी गाड़ी में 10 से 15 हजार रुपये का डीजल डलवाया है ताकि वो उसकी नाबालिग लड़की को ढूंढ सकें।

मामला है कानपुर का जहां एक दिव्यांग महिला सोमवार को अपनी शिकायत लेकर कानपुर पुलिस के प्रमुख के पास पहुंची। कमिश्नर दफ्तर के बाहर स्थानीय मीडिया से बात करते हुए गुडिया नाम की इस विधवा महिला ने बताया कि उन्होंने पिछले महीने अपनी बेटी के लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई थी। लेकिन पुलिस उनकी मदद नहीं कर रही है।

दिव्यांग महिला ने आगे बताया कि पुलिसवाले कहते रहते हैं कि हम ढूंढ़ रहे हैं। कई बार वो मेरा अपमान करते हैं, मेरी बेटे के चरित्र पर सवाल उठाते हुए कहते हैं कि उसकी ही गलती होगी। पुलिसवाले कहते हैं कि हमारी गाड़ी में डीजल डलवाइए, हम आपकी बेटी को ढूंढ़ने जाएंगे।

महिला ने बताया कि पुलिसवाले कहते रहते हैं कि हम ढूंढ़ रहे हैं। कई बार वो मेरा अपमान करते हैं, मेरी बेटे के चरित्र पर सवाल उठाते हुए कहते हैं कि उसकी ही गलती होगी। पुलिसवाले कहते हैं कि हमारी गाड़ी में डीजल डलवाइए, हम आपकी बेटी को ढूंढ़ने जाएंगे। अपनी बेटी को ढूंढने के लिए मैनें उनकी गाड़ी में डीजल भी भरवाया है।

यह भी पढ़ें: इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा, ऑस्ट्रेलिया में जीत के बाद मैं भावुक हो गया था

वहीं कानपुर में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव ने मीडिया से कहा कि हमने पुलिस थाना इंचार्ज से इस मामले में तुरंत कार्रवाई करने के लिए कहा है। महिला ने जो सारे आरोप लगाए हैं, उनकी जांच की जाएगी और अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़ें: Kisan Andolan: विपक्ष ने किसानों के मुद्दे पर किया जबरदस्त हंगामा

Related Articles

Back to top button