IPL
IPL

Uttar Pradesh आते ही बढ़ी मुश्किलें, Mukhtar की विधानसभा सदस्यता हो सकती हैं खत्म

यूपी के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी  ( Mukhtar Ansari ) की मुश्किलें अभी कम नहीं होने वाली हैं।

लखनऊ: Uttar Pradesh के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी  ( Mukhtar Ansari ) की मुश्किलें अभी कम नहीं होने वाली हैं। क्योंकि अब ऐसी खबरें सामने आ रही है कि राज्य की योगी सरकार ( Yogi Sarkar ) मुख्तार की विधानसभा सदस्यता को खत्म करवाने को लेकर विधिक राय ले सकती है। बता दें कि मुख्तार अंसारी पिछले 24 साल से मऊ की सीट से विधायक है। कानून के मुताबिक अगर विधानसभा का कोई भी सदस्य सदन की कार्यवाही में 60 दिनों तक अनुपस्थित रहता है तो कानून के तहद उसकी सदस्यता को अनुच्छेद 190 के तहत खत्म किया जा सकता है।

गौरतलब है कि Mukhtar अंसारी पर अलग अलग राज्यों में 52 मुकदमें दर्ज हैं। मुख्तार अंसारी पर BJP विधायक कृष्णानंद राय ( Krishnanand Rai ) की हत्या का भी आरोप है। राय की हत्या मामले की जांच CBI को दी गई थी, लेकिन गवाहों के मुकर जाने के कारण मुख्तार अंसारी को इस मामले में बरी कर दिया गया है। बता दें कि आज सुबह ही मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में शिफ्ट किया गया है।

21 साल पुराने मामले में पेशी

बांदा जेल लाने के बाद Mukhtar अंसारी को सबसे पहले 21 साल पुराने मामले में MP M.L.A कोर्ट में पेश किया गया। बता दें कि लखनऊ जेल के अधिकारियों संग मारपीट को लेकर अंसारी पर यह मामला चल रहा है। हालांकि इस मामले में कई बार मुख्तार को पेश होने का आदेश दिया गया लेकिन मुख्तार इस दौरान पंजाब की रोपड़ जेल में बंद थे।

हालांकि सुप्रीम कोर्ट में लंबी चली कानूनी लड़ाई के बाद कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को पंजाब ( Punjab ) से यूपी शिफ्ट करने को लेकर फैसला दिया। इसी कड़ी में आज मुख्तार को बांदा जेल ( Banda Jail ) लाया गया और एमपी-एमएलए कोर्ट में पेश किया गया।

यह भी पढ़ें: पत्रकार का दावा, नक्सलियों के कब्जे में हैं लापता CRPF जवान

Related Articles

Back to top button