420 विकेट लेने के बाद डिंडा ने लिया संन्यास, ये है वजह!

नई दिल्ली: भारत ( India ) के घरेलू क्रिकेट ( Domestic Cricket ) के तेज गेंदबाज ( Fast Bowler ) अशोक डिंडा ( Ashok Dinda ) ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ( Retirement ) ले लिया है। अशोक डिंडा भले ही इंटरनैशनल लेवल पर टीम इंडिया की ओर से ज्यादा मैच ना खेल सके हों, लेकिन घरेलू क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी से लंबे समय तक विरोधी बल्लेबाजों की परेशान किया है।

डिंडा ने क्रिकेट को कहा अलविदा

बंगाल के तेज गेंदबाज अशोक डिंडा ने 32 साल की उम्र में वनडे, टेस्ट और टी-20 फॉर्मेट्स से संन्यास ले लिया है। डिंडा ने टीम इंडिया के लिए 13 वनडे और 9 टी-20 इंटरनैशनल मुकाबले खेले हैं। इनके अलावा वो IPL में भी कई टीमों का हिस्सा रह चुके हैं। डिंडा ने 116 फर्स्ट क्लास मैचों में 420 विकेट हासिल किए हैं।

इस वजह से लिया संन्यास!

तेज गेंदबाज अशोक डिंडा ने गोवा की तरफ से उन्होंने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में तीन मुकाबले खेले थे। लेकिन माना जा रहा है कि उनका शरीर साथ नहीं दिया। जिसके कारण उनके संन्यास लेने की बात कही जा रही है।

क्या बोले डिंडा?

पूर्व स्पिनर उत्पल चटर्जी के बाद अशोक डिंडा बंगाल के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज हैं। डिंडा ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहा हूं। मैंने BCCI और गोवा क्रिकेट संघ को इस संबंध में ईमेल भेज दिया है।

IPL में इन टीमों का रह चुके हिस्सा

अशोक डिंडा को भले ही इंटरनैशनल क्रिकेट में जगह नहीं मिली हो, लेकिन उन्होंने टी-20 फॉर्मेट में गजब का प्रदर्शन किया है। IPL में में डिंडा दिल्ली कैपिटल्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, पुणे वॉरियर्स, राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर जैसी टीमों का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने अपने करियर में कुल 147 टी20 मैच में 151 विकेट झटके हैं।

यह भी पढ़ें: शादी के बंधन में बंधा एक और भारतीय खिलाड़ी, गुपचुप रचाई शादी

Related Articles