यूरोपीय संघ-रूस के बीच राजनयिक चैनल खुले हैं-जोसेप बोरेल

ब्रसेल्स : यूरोपीय संघ (European Union) विदेश नीति के प्रमुख जोसेप बोरेल (Josep Borrell) ने शनिवार को मास्को (Moscow) की अपनी यात्रा का समापन किया और कहा कि यूरोपीय संघ-रूसी संबंध इस बात से संतुष्ट हैं कि राजनयिक चैनल खुले रहें।

बोरेल ने 4 से 6 जनवरी तक मास्को का दौरा किया। यात्रा के दौरान, बोरेल ने रूसी (Russian) विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव (Sergey Lavrov) के साथ यूरोपीय संघ-रूस संबंधों और वैश्विक भू-राजनीतिक परिदृश्य पर व्यापक चर्चा की। उन्होंने रूसी नागरिक समाज संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ भी मुलाकात की।

Alexey Navalny के रिहाई की अपील

बोरेल ने कहा कि राजनयिक चैनलों को खुले रहने की जरूरत है, इससे न केवल संकट या घटनाओं को कम किया जा सकता है बल्कि प्रत्यक्ष आदान-प्रदान, और फर्म व फ्रैंक संदेशों को भी सुविधाजनक तरीके से वितरित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मैं अपनी यात्रा के परिणामों की चर्चा यूरोपीय संघ के सहयोगियों के साथ करूंगा।

उन्होंने बताया कि 22 फरवरी को विदेश मामलों की परिषद में हम यूरोपीय संघ-रूस संबंधों पर एक समर्पित चर्चा करेंगे।
यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक ने यह भी कहा कि ब्रुसेल्स रूस में मानवाधिकारों की स्थिति को लेकर चिंतित हैं और रूसी विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी (Alexey Navalny) को रिहा करने के लिए यूरोपीय संघ (European Union) के आह्वान की फिर से पुष्टि की हैं। जिसे मास्को की एक अदालत ने एक वित्तीय दुर्व्यवहार में 3.5 साल की जेल की सजा सुनाई है।

इसे भी पढ़े; पीएम मोदी असम दौरे से पहले तैयारियों की तस्वीरें साझा करते हुए जताई खुशी

बोरेल ने तीन यूरोपीय राजनयिकों को निष्कासित करने के रूसी अधिकारियों के फैसले की भी कड़ी निंदा की और इन आरोपों को खारिज कर दिया कि “उन्होंने विदेशी राजनयिकों के रूप में अपनी स्थिति के साथ अवैध गतिविधियों का संचालन किया।

Related Articles

Back to top button