शिष्य आनंद गिरि को यूपी पुलिस ने हरिद्वार से किया गिरफ्तार

शक के आधार पर उनके शिष्य को यूपी पुलिस रात 10 बजे हरिद्वार पंहुची और पुलिस टीम ने डेढ़ घंटे की पूछताछ के बाद आनंद गिरी को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई

हरिद्वार: अखाड़ा परिषद् के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी का सोमवार को संदिग्ध हालत में निधन हो गया था। नरेंद्र गिरी का शव प्रयागराज के उनके बाघंबरी मठ में ही फांसी के फंदे से लटकता मिला अब इस मर्डर मिस्ट्री के शक के आधार पर उनके शिष्य को यूपी पुलिस रात 10 बजे हरिद्वार पंहुची और पुलिस टीम ने डेढ़ घंटे की पूछताछ के बाद आनंद गिरी को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई। जानकारी के मुताबिक सहारनपुर पुलिस और एसओजी की टीम हरिद्वार पहुंची थी।

जानें आनंद गिरी को कहाँ नज़र बंद किया गया था

पुलिस ने पहले से ही उनको अपने गिरिफ्त में ले रखा था पर उन्हें श्यामपुर कांगड़ी स्थित उनके आश्रम में नजरबंद कर रखा गया था। एसएसपी समेत आला अधिकारी आश्रम में मौजूद थे और पुलिस के टीम ने डेढ़ घंटे की पूछताछ की।

आपको बतादें अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि बाघंबरी मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाए गए और पुलिस के मुताबिक अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और बाघंबरी मठ में फांसी के फंदे से लटकता मिला। पुलिस के मुताबिक बाघंबरी मठ में जहां महंत नरेंद्र गिरि का शव फंदे से लटकता मिला, वहां चारो तरफ से गेट बंद मिला और पुलिस ने शुरुआती जांच के आधार पर इसे आत्महत्या बताया है। आपको बता दें वहां पर उनकी लिखी सुसाइड नोट भी बरामद हुई है।

 

यह भी पढ़ें:मौत से पहले महंत नरेंद्र गिरी ने रिकॉर्ड किया वीडियो, जांच जारी

Related Articles