CBI ने किया खुलासा – कांग्रेस में नहीं, मोदी सरकार के राज में हुआ 5000 करोड़ का महाघोटाला

0

नई दिल्ली। पीएनबी घोटाले में सीबीआई ने अपनी दूसरी एफआईआर में हैरतअंगेज खुलासे किए हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 11,500 करोड़ रुपए के घोटाले में 5000 करोड़ रुपए का घोटाला एनडीए के शासनकाल में हुआ है। दाखिल एफआईआर में कहा गया है कि ये 5000 करोड़े रुपए के एलओयू साल 2017-18 में जारी किए गए थे।

इसके बाद से मोदी सरकार सवालों के घेरे में आ गई है। जांच एजेंसियां इस मामले पर और ज्यादा जानकारी इकठ्ठा करने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने इसके लिए पीएनबी से सभी घोटाले से जुड़े सभी दस्तावेजों की मांग की है।

जानिए क्या है सीबीआई की दर्ज की गई दूसरी एफआईआर में

एफआईआर के मुताबिक 11,500 करोड रुपये में से लगभग 5000 करोड़ रुपये का घोटाला बीजेपी के शासनकाल में ही हुआ। लेकिन जांच एजेंसी के आला अधिकारियों का कहना है कि मामला कुछ और भी हो सकता है। जांच एजेंसी के एक आला अधिकारी ने बताया कि इसमें ज्यादातर मामलों में रोल बैक के भी हो सकते है।

एफआईआर में मेहुल चौकसी की तीन कंपनियों गीतांजलि जेम्स, गिलि इंडिया और नक्षत्र ब्रांड लिमिटेड के नाम शामिल हैं। एफआईआर में मेहुल चौकसी को भी आरोपी बनाया गया है। इस शिकायत में पीएनबी ने अपने दो अधिकारियों मनोज करात और मई 2017 में रिटायर हुए डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी पर आरोप लगाया है।

इन बैंको को अब पीएनबी से पैसे लेने हैं

एफआईआर के मुताबिक ज्यादातर एलओयू साल 2017 में जारी किये गये जिनकी आखिरी मियाद मई 2018 तक थी। यानी बैंक के डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी घोटालेबाजों के लिए अपनी रिटायरमेंट तक एलओयू जारी करता रहा। इस एफआईआर में कई और बैंको के नाम भी सामने आये है, जिन्होंने पीएनबी के कहने पर मॉरिशस, बहरीन, हांगकांग, फ्रैंकफर्ट जैसे देशों में घोटालेबाजों के लिए करोड़ों की रकमें अदा की। इनमें एसबीआई, केनरा बैंक, एक्सिस बैंक जैसे नाम शामिल हैं और इन बैंको को अब पीएनबी से पैसे लेने हैं।

सीबीआई ने शेट्टी और करात के घरों में भी छापे मारे हैं। दोनों पर आरोप है कि उन्होंने मेहुल चौकसी और नीरव मोदी से मिलकर फर्जी लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग और भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं को क्रेडिट के लिए फर्जी लेटर्स जारी किए थे।

ईडी ने जारी किया नीरव मोदी को समन

प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी को समन किया है और 23 फरवरी को मुंबई स्थित ऑफिस पहुंचने के निर्देश दिए हैं। ईडी ने नीरव मोदी के ऑफिस को देश और विदेश स्थित शोरुम को ना बेचने के निर्देश दिए हैं। गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नीरव मोदी के 17 ठिकानों पर छापेमारी की थी।

ईडी ने इस छापेमारी में नीरव मोदी के ठिकानों से 5100 करोड़ रुपये के हीरे गहने जब्त किए थे। ईडी ने नीरव मोदी के ठिकानों के साथ गीतांजलि ज्वेलस कार्यालय में भी छापेमारी की थी। केन्द्रीय एजेंसियों की छापेमारी आज भी जारी रहने की संभावना है।

loading...
शेयर करें