खुलासा : घनघोर लापरवाही का नतीजा था मुंबई विमान हादसा, जानबूझकर मौत के मुंह में रखा गया कदम

0

मुंबई। मुंबई के घाटकोपर में गुरुवार को को चार्टेड प्लेन क्रेश के जांच की रिपोर्ट सामने आई है। इस रिपोर्ट में कई नई बाते सामने आई है जो की चौकाने वाली है। विमान ने पिछले दस सालों से कोई उड़ान नहीं भारी थी। एयरक्राफ्ट की पिछले डेढ़ साल से मरम्मत की जा रही थी।

विमान हादसा

बता दे कि चार्टर्ड प्लेन को नए सिरे से उड़ान भरने के लिए जरुरी सर्टिफिकेट डीजीसीए द्वारा जारी कराना होता जो की उस प्लेन का नहीं हुआ था। चार्टर्ड प्लेन ने बिना डीजीसीए सर्टिफिकेट के उड़ान भरी जिसे हासिल करना जरुरी था।

गुरुवार शाम को नागरिक उड्डयन मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया, एयरक्राफ्ट ने आखिरी बार 22 फरवरी 2008 को उड़ान भरी थी, तब यह उत्तर प्रदेश सरकार के पास था। 2014 में एयरक्राफ्ट को एम/एस यूवाई एविएशन ने खरीद लिया।

ज्ञात को कि मुंबई स्थित घाटकोपर में गुरुवार दोपहर एक चार्टर्ड प्लेन क्रैश होने से 5 लोग मारे गए थे जिसमें 4 प्लेन में सवार थे। वहीं घटनास्थल से गुजर रहे एक राहगीर की भी मौत हो गई थी। प्लेन का ब्लैक बॉक्स मिल गया है, जिससे अब घटना के कारणों का पता चल सकेगा। बता दें कि इस घटना में 2 महिलाओं की भी मौत हुई है जो इस प्लेन की क्रू मेंबर थीं।

loading...
शेयर करें