शोध में हुआ खुलासा, तेजी से बदल रहा हिमालय का पर्यावरण, सूखे की जताई आशंका

देहरादून। मौसम में हुए तेजी से बदलाव से यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि आने वाला समय में काफी परिवर्तन होना संभव है। ऐसा हम नहीं बल्कि विभाग की रिपोर्ट कह रही हैं। जारी की गई रिपोर्ट से यह पता चला है कि हिमालय के पर्यावरण में तेजी से बदलाव आ रहा है। इस बात का खुलासा नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाइड्रोलॉजी ने अपनी एक रिसर्च में किया है।

रिसर्च के दौरान पता चला कि पिछले 20 सालों में हिमालय के पर्यावरण में तेजी से बदलाव आए हैं। साथ ही बर्फबारी और बारिश का एक निश्चिच समय भी बदल गया है। वहीं पश्चिमी विक्षोभ की संख्या में भी बहुत तेजी से कमी आई है। बताया जा रहा है कि बर्फबारी और बर्फ के टिकने के समय में भी काफी परिवर्तन आया है।

पहले दिसंबर से जनवरी माह में बर्फबारी होती थी और फरवरी में बर्फ पिघलती थी लेकिन अब फरवरी में बर्फ पड़ती है। यह बर्फ भी इतनी कम होती है कि इससे नदियों में सूखे की नौबत आ गई है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ की संख्या में भी बीते 20 वर्षों में कमी आई है। पहले जहां 10 से 15 चक्र पश्चिमी विक्षोभ आते थे लेकिन अब इनकी संख्या पांच से छह रह गई है।

वैज्ञानिकों के माने तो यह काफी चिंताजनक बात है। पिघलती हुई ग्लेशियर, हिमालय में परिवर्तन आने वाले समय में बुरे साबित हो सकते हैं।

Related Articles